मुजफ्फरपुर : रेल एसपी का डॉ कुमार आशीष ने किया पदभार ग्रहण, कहा सुरक्षा और शराबबंदी होगी प्राथमिकता।

breaking News ताजा खबर राज्य

मुजफ्फरपुर/धर्मेन्द्र सिंह जिले के नए रेल एसपी डॉ. कुमार आशीष ने गुरुवार को अपना पदभार ग्रहण कर लिया। डॉ आशीष इससे पूर्व बिहार के किशनगंज और मोतिहारी में पुलिस अधीक्षक के रुप में अपनी सेवा दे चुके हैं।पुलिस कप्तान के रूप में इनका कार्यकाल बहुत ही सराहनीय रहा। खासकर बिहार सरकार के सबसे उत्कृष्ट काम पूर्ण शराबबंदी जिसमें डॉ आशीष ने अपने कार्यक्षेत्र में गजब का परफॉर्मेंस कर दिखाया था। किशनगंज से जब चंपारण में डॉ कुमार आशीष को भेजा गया था तो किशनगंज के लोग काफी ज्यादा दुखी हुए थे। सुदूर ग्रामीण इलाकों में आने वाला किशनगंज जहां सबसे अधिक लोगों को पूर्ण शराबबंदी को लेकर जागरूकता पैदा करना और फिर शराबबंदी को सफल बनाने में सबसे महत्वपूर्ण योगदान डॉ कुमार आशीष का रहा था। जब सरकार के द्वारा तबादला कर चंपारण भेजा गया तो अपने रंग में ही कार्य करना शुरू किया और चंपारण वासियों के दिल में भी अपनी अमिट छाप छोड़ दी। सरकार ने शराबबंदी को लेकर मात्र एक आईपीएस अधिकारी को वर्ष 2021 में उत्पाद पदक से नवाजा था वह सिर्फ और सिर्फ डॉ. कुमार आशीष हीं थे। हाल के दिनों में यह देखा गया कि शराब माफिया रेलवे को अपना शौक टारगेट बना रहे हैं और रेल से लगातार शराब की खेप बरामद होने लगी थी जिसके बाद बिहार सरकार ने भरोसा जताते हुए आईपीएस डॉ कुमार आशीष को रेल एसपी का कमान दे दिया है। आपको बताते चलें कि मुजफ्फरपुर जिले के साथ-साथ उत्तर बिहार के कई प्रमुख जिले रेलवे क्षेत्राधिकार के अनुसार रेल एसपी मुजफ्फरपुर के ही देखरेख में रहता है ऐसे में डॉ कुमार आशीष के लिए अवैध शराब कारोबारियों और यात्रियों को लूटपाट करने वाले गिरोह पर नकेल कसना किसी चुनौती से कम नहीं होगा। पूछे जाने पर डॉ आशीष ने कहा कि मेरे कार्यकाल में सबसे अधिक फोकस शराबबंदी और अपराधियों के खिलाफ विशेष मुहिम की रहती है। उस पर लगातार हम काम भी करते हैं जिसका परिणाम सभी लोगों को दिखता भी है। सरकार ने जिस भरोसे से जिम्मेदारी दी है उस पर हर संभव प्रयास रहेगा कि खड़ा रहूं। एसपी ने कहा कि शराब माफियाओं और यात्रियों को लूटपाट करने वाले उन अपराधियों को यह बता देना चाहता हूं कि हमारे कार्य क्षेत्र को भूल जाए अन्यथा किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। अपराधी चाहे कोई भी हो कानून अपना काम करेगी और सख्ती से हर संभव प्रयास रहेगा कि शराब माफिया और रेलवे में सफर करने वाले यात्रियों को लूटपाट करने वाले गिरोह से निपटा जाएगा।