पटना/बक्सर-आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत बक्सर के रामरेखा घाट पर स्वच्छता श्रमदान का आयोजन किया गया………..

breaking News राज्य

त्रिलोकी नाथ प्रसाद =सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के केंद्रीय संचार ब्यूरो (सीबीसी), पटना के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने बक्सर के रामरेखा घाट पर आज 16 अगस्त को जिले के सरस्वती शिशु-विद्या मंदिर के सचिव, शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं के साथ मिलकर स्वच्छता श्रमदान में हिस्सा लिया। सभी ने रामरेखा घाट पर झाड़ू लगाकर साफ-सफाई की और पूरी तन्मयता के साथ अपना योगदान दिया।

केंद्रीय संचार ब्यूरो, पटना के कार्यक्रम प्रमुख सह क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी पवन कुमार सिन्हा ने कहा कि स्वच्छता श्रमदान का मुख्य उद्देश्य लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है। उन्होंने कहा कि नदी घाटों की सफाई पर्यावरण के लिए बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि नदी हमारी जीवनदायनी है। जब नदियां स्वस्थ होंगी, तभी हमारा पर्यावरण स्वच्छ होगा। घाटों की साफ-सफाई बेहद आवश्यक है।

सीबीसी, भागलपुर के क्षेत्रीय प्रचार अधिकारी अभिषेक कुमार ने कहा कि स्वच्छता श्रमदान के माध्यम से हम लोगों के बीच स्वच्छता का संदेश देना चाहते हैं। बच्चे कल का भविष्य हैं और वे सकारात्मक संदेशों के वास्तविक वाहक हैं। इनके माध्यम से हम सफाई अभियान को बहुत दूर तक ले जा सकते हैं।

सीबीसी, पटना के सहायक निदेशक एन एन झा ने कहा कि स्वच्छता अभियान भारत सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है। हमारा उद्देश्य लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है। हम स्वस्थ होंगे तभी देश स्वस्थ होगा। सरस्वती विद्या मंदिर के सचिव राजेश प्रताप सिंह ने कहा कि हमें माननीय प्रधानमंत्री जी के स्वच्छता अभियान के संदेश को जन-जन तक पहुंचाना है। रामरेखा घाट पर स्वच्छता श्रमदान एक सांकेतिक पहल है, जो लोगों को नदी घाटों को स्वच्छ रखने का संदेश देगी।

इस स्वच्छता अभियान में सीबीसी के क्षेत्रीय प्रचार सहायक अमरेंद्र मोहन सहित निशांत कुमार, अशोक कुमार, सुरेंद्र चौधरी तथा विद्यालय के प्रधानाचार्य जैनेंद्र कुमार श्रीवास्तव सहित आचार्य उमेश कुमार पाठक, सुनील दुबे, आचार्या माया देवी, बीना कुमारी, ममता सिंह, विनीता सिंह, विनीता कुमारी और सीमा सिंह ने भाग लिया।

कैंब्रिज सीनियर सेकेंडरी हाई स्कूल, कथकौली में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव के तीसरे दिन आज फोटो प्रदर्शनी को देखने के लिए स्कूली बच्चों की बड़ी भीड़ उमड़ी। बच्चों ने आजादी के लिए आंदोलन की तस्वीरों को देखा और उसे अपने नोटबुक में महत्वपूर्ण बिंदुओं को लिखा भी। बच्चों ने उत्साहित होकर सेल्फी प्वाइंट पर फोटो भी खिंचवाई।

कार्यक्रम के दौरान बच्चों के बीच प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया और सही जवाब देने वाले बच्चों को मौके पर ही पुरस्कृत भी किया गया। कार्यक्रम में विभागीय कलाकारों एवं सांस्कृतिक दल के कलाकरों द्वारा स्वतंत्रता आंदोलन पर संगीत और नाटक प्रस्तुत किया गया तथा भोजपुरी बिरहा दल द्वारा संगीतमय प्रस्तुति दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.