धुर्वा में झारखण्ड ओबीसी आरक्षण मंच के तत्वाधान में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जननायक कर्पूरी ठाकुर की मनाई गई जयंती

ताजा खबर

जननायक कर्पूरी देश के पहले राजनेता थे जो बिहार सीएम रहते हुए पिछड़ों को 27 % आरक्षण लागू कर ऐतिहासिक निर्णय किया था, CM हेमंत को सीख लेनी चाहिए : कैलाश यादव

****************************************

संवाददाता कृष्णा कुमार

आज दिनांक 24/01/23 को धुर्वा में झारखण्ड ओबीसी आरक्षण मंच के तत्वाधान में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जननायक कर्पूरी ठाकुर का जयंती मनाई गई ! इस अवसर पर अध्यक्षता करते हुए बतौर मुख्य अतिथि मंच के अध्यक्ष कैलाश यादव ने कहा कि स्व. कर्पूरी ठाकुर अतिपिछड़े समाज के होने के साथ वह जन जन के अतिजनप्रिय नेता थे ! उन्होंने बिहार सरकार में विरोधी दल के नेता और मुख्यमंत्री के तौर पर आसीन रहकर बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के बनाए गए संवैधानिक सिद्धांतो पर अमल करते हुए एकीकृत बिहार झारखंड में गांव गांव तक जाकर दलित आदिवासी पिछड़े अल्पसंख्यक एवं वंचित समाज के बीच सामाजिक जागरूकता को काफी बढ़ावा दिया !

 

जननायक कर्पूरी ठाकुर देश के ऐसे पहले राजनेता हुए जिन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री रहते हुए पिछड़े वर्ग को शैक्षणिक आर्थिक सामाजिक और राजनैतिक रूप से मजबूती प्रदान के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण लागू कर साहसिक एवं ऐतिहासिक निर्णय किया था !

यादव ने कहा की झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी स्व कर्पूरी ठाकुर के साहसिक निर्णयों से सीख लेनी चाहिए और राज्य में ओबीसी/अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति का आरक्षण सीमा बढ़ाने के लिए केंद्र को नौंवीं अनुसूची में भेजने के बजाय राज्य में अधिसूचना जारी करने का घोषणा करनी चाहिए !

 

कार्यक्रम में वरिष्ठ समाजसेवी राजकिशोर सिंह यादव सुबोध ठाकुर चत्रधारी महतो,सरजू प्रसाद बुधदेव मंडल चंद्रिका यादव सुनील शेखर पीपी राय सुधीर गौतम रंजित चौधरी मुनेश्वर राय नरेश कुशवाहा द्वारिका प्रसाद परमेश्वर ठाकुर चंदेश्वर प्रसाद जैनेंद्र राय सोनू यादव दीपनारायण राम बैजनाथ राम सहित अन्य लोग मौजूद थे !