मगबन्धु (अखिल) के नवीनतम अंक प्रो. उमाशंकर शर्मा ‘ऋषि विशेषांक’ का लोकार्पण 10 दिसम्बर को पटना में होगा*

breaking News

 

*मगबन्धु (अखिल) के नवीनतम अंक प्रो. उमाशंकर शर्मा ‘ऋषि विशेषांक’ का लोकार्पण 10 दिसम्बर को पटना में होगा

मग जागृति ट्रस्ट द्वारा प्रकाशित राष्ट्रीय स्तर की सामाजिक- सांस्कृतिक पत्रिका मगबन्धु (अखिल ) का नवीनतम अंक (जनवरी-जून, 2022) (वर्ष -17 अंक -35) राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित प्रसिद्ध संस्कृत विद्वान एवं मग समाज के विशिष्ट विभूति प्रो. उमाशंकर शर्मा ऋषि पर केंद्रित है। इस अंक का लोकार्पण आगामी 10 दिसम्बर, 2022 (शनिवार) को लवकुश टॉवर एग्जिबिशन रोड, पटना स्थित आध्यात्मिक सत्संग समिति सभागार में शाम चार बजे सम्पन्न होगा। इस कार्यक्रम में कई प्राध्यापक, विचारक एवं विद्वत समाज के प्रमुख सदस्यगण भाग लेंगे।

इस विशेष अंक में उनके हिन्दी एवं संस्कृत भाषाओं में लिखी गई विभिन्न कृतियों पर समीक्षात्मक विवरण के अतिरिक्त मग समाज के प्रखर चिंतकों एवं विद्वानों (विशेष रूप से प्रो. गोपबन्धु मिश्र, आचार्य चन्द्रभूषण मिश्र, प्रो. जयनारायण पाण्डेय, डॉ. रामाशीष पाण्डेय, डॉ. राकेश शास्त्री, डॉ. सर्वजीत दुबे.. कमलेश पुण्यार्क, ब्रजेश कुमार शर्मा आदि) के ऋषि जी के व्यक्तित्व- कृतित्व पर आधारित आलेख, संस्मरण, समीक्षा, आदि शामिल हैं।
इसके अतिरिक्त पूर्व अंकों की तरह समाज से जुड़े विभिन्न आयामों को भी इसमें शामिल किया गया है। अन्य सभी नियमित सामग्री भी इसमें शामिल हैं। इसके साथ-साथ इस अंक में हमसे बिछुड़े विशिष्ट विभूतियों के प्रति श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया है।
विदित हो कि भारत सरकार के आरएनआई से पंजीकृत मगबन्धु (अखिल) का प्रकाशन पिछले 17 वर्षों से राँची (झारखंड) से नियमित रूप से किया जा रहा है, जिसके माध्यम से अनेक विशेषांक प्रकाशित हुए हैं। साथ ही स्तरीय सामाजिक प्रकाशन के कारण राष्ट्रीय स्तर पर इसकी एक विशिष्ट पहचान है।

डॉ. सुधांशु शेखर मिश्र
सम्पादक, मगबन्धु (अखिल )