किशनगंज : विशेष शिविर में किया गया 111 लोगों की जांच।

breaking News District Adminstration Kishanganj राज्य स्वास्थ्य

राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के तहत विशेष शिविर।

  • कालाजार, कोविड टीकाकरण, परिवार नियोजन व अन्य सेवाओं की दी गई जानकारी।
  • 30 दिसम्बर तक शहर के 04 विभिन्न इलाकों में होगा कार्यक्रम, लोगों को किया जाएगा जागरूक।

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, जिले में जन-जन तक स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुँच बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग तत्पर है। सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों से दूर आवासित लोगों तक सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुँच सुनिश्चित करने के लिए जिले में विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का अयोजन किया जाता रहा है। सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध सुविधाएं समाज के आखिरी व्यक्ति तक पहुँच सके, इसको लेकर सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग काफी गंभीर है। इसे सुनिश्चित करने को लेकर आवश्यक प्रयास भी जारी है। इसी क्रम में शहरी क्षेत्रों के स्लम बस्तियों व झुग्गी झोपड़ी में गुजर-बसर करने वाले वंचित लोगों को बुनियादी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन चलाया जा रहा है। जिसके तहत शहर के विभिन्न इलाक़ों में विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम के तहत सबसे पहले जिला मुख्यालय स्थित लोहारपट्टी करबला में शनिवार को शिविर का उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर ने फीता काट कर किया। जहां लोगों को मुफ्त इलाज किया गया एवं सरकार द्वारा चलाये जा रहे अन्य कार्यक्रमों की जानकारी उपलब्ध करायी गई। शिविर में 111 लोगों की स्वास्थ्य जांच एवं दवा वितरण किया गया। चार गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच करने के साथ-साथ कैल्सियम गोली वितरित की गई। साथ ही, शिविर में परिवार नियोजन के साधन की प्रदर्शनी तथा इच्छुक दम्पति को अस्थाई साधन माला डी, छाया गोली, निरोध प्रदान किया गया। मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ देवेन्द्र कुमार, गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ मंजर आलम, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ के के कश्यप, जिला स्वास्थ्य समिति के जिला कार्यक्रम प्रबंन्धक डॉ मुनाज़िम, डीडीए सुमन सिन्हा, बीएचएम अजय कुमार, आदि उपस्थित थे। शिविर के अनुश्रवन पदाधिकारी डीडीए सुमन सिन्हा ने बताया जिले में माइक्रो प्लान के तहत विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है। विभिन्न इलाकों के लिए तिथिवार माइक्रो प्लान तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि शहरी स्लम बस्तियों, बस अड्डा, रेलवे ट्रैक किनारे जीवनयापन करने वाले परिवारों को विशेष स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के उद्देश्य से इस शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर में संचारी रोग, गैरसंचारी रोग, कालाजार, एएनसी जांच, टीकाकरण, परिवार नियोजन के साथ-साथ कोविड-19 टीकाकरण एवं जांच की सेवाओं के सम्बंध में भी जानकारी दी जा रही है। ताकि, लोग इनको लेकर जागरूक हो सकें। सदर प्रखंड के स्वास्थ्य प्रबंन्धक अजय कुमार ने बताया की स्वास्थ्य शिविर में संचारी रोग से संबंधित जैसे-यक्ष्मा एवं अन्य की जांच की गई। साथ ही, जरूरी परामर्श दिए गए। इसके साथ ही गैर संचारी रोग मसलन-डायबिटीज, हाइपरटेंशन, मानसिक स्वास्थ्य आदि की जांच के साथ जरूरी सलाह दी गई। कालाजार एवं वेक्टर जनित रोग जैसे चिकनगुनिया डेंगू से संबंधित गर्भवती महिला की एएनसी जांच, टीकाकरण, परिवार नियोजन से संबंधित जानकारी दी गई। उन्होंने बताया की आगामी 27 दिसंबर को लहरा चौक, 28 दिसंबर को हलिम चौक तथा 30 दिसंबर पुराना खगड़ा में आरबीएस के दल के सहयोग से शिविर का आयोजन किया जाना है। जिसकी जानकारी आशा व एएनएम के माध्यम से संबंधित क्षेत्र के लोगों को दी जा रही है। जिससे अधिक से अधिक लोग इन शिविरों में शामिल होकर योजना का लाभ ले सकें। सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर ने बताया, शिविर के दौरान जहाँ मरीजों को सुविधाजनक तरीके से बेहतर और समुचित स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराई गई। वहीं, मौजूद सभी लोगों को कोविड वैक्सीनेशन के प्रति भी जागरूक किया गया। उन्होंने बताया, इस शिविर का मुख्य उद्देश्य है कि समाज के आखिरी व्यक्ति तक सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी मिल सके और जरूरतमंद लोग सुविधाजनक तरीके से लाभ ले सकें। इसे सुनिश्चित करने को लेकर लोगों को सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपलब्ध सुविधाओं का लाभ लेने के लिए जागरूक भी किया गया। जिला कार्यक्रम प्रबंन्धक डॉ मुनाज़िम ने बताया, शिविर का लाभ अधिकाधिक लोगों को मिल सके, इसको लेकर संबंधित क्षेत्र की एएनएम कार्यकर्ता द्वारा संयुक्त रूप से अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर लोगों को शिविर की जानकारी देकर शिविर में भाग लेने के लिए प्रेरित किया गया। ताकि अधिक से अधिक लोग शिविर में भाग ले सकें और शिविर का सफल संचालन सुनिश्चित हो सके। वहीं, उन्होंने बताया, शिविर में लोगों को किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं हो, इसको लेकर व्यापक तैयारी की गई थी।