*अमृत काल मे संविधान – लोकतंत्र पर हो रहा है हमला – मनोज मंज़िल*

breaking News राज्य

गुड्डु कुमार सिंह:-साम्प्रदायिक फासीवादी हमले का प्रतिकार करने व बढ़ती महंगाई- बेरोजगरी के खिलाफ आंदोलन खड़ा करने के आह्वान के साथ माले का हुआ प्रखंड सम्मलेन

15 सदस्यीय प्रखंड कमिटि व कॉमरेड रघुवर पासवान पुनः चुने गए प्रखंड सचिव

15 सदस्यीय टीम का नाम मनोज मंज़िल,रघुबर पासवान,दसई राम,देवान्ति देवी,भोला यादव,बिष्णु मोहन,प्रमोद सिंह,जयकुमार यादव,बिनोद सिंह,बिनोद चौधरी,चंदेश्वर पासवान,भूषण यादव,नागेंद्र सह,नागेंद्र यादव,अखिलेश गुप्ता

अगिआंव, 2 अगस्त 22

भाकपा – माले अगिआंव का 8वां प्रखंड का सम्मेलन पवन में कॉमरेड श्री किशुन राम सभागार व कॉमरेड राजाराम मुसहर एवम जटूलि राम मंच में सम्प्पन हुआ।

सम्मेलन में पिछले काम – काज का रिपोर्ट प्रखंड सचिव रघुवर पासवान ने रखा जिसपर दर्जनों प्रतिनिधियों ने अपनी बात रखी।

सम्मेलन के उद्घाटनकर्ता केन्दीय कमिटी सदस्य व स्थानिय विधायक कॉमरेड मनोज मंज़िल ने कहा कि आज हम आजादी के 75वे वर्ष में अमृत काल मे जी रहे हैं लेकिन संविधान द्वारा प्रदत हमारे अधिकारों और पूरे संविधान पर ही भाजपा सरकार हमला कर रही है। बोलने लिखने पर बैन लगा हुआ है। पत्रकार – बुद्धिजीवी को जेल में बंद किया जा रहा है।

उन्हीने कहा कि गरीबों के दवा – दारू सहित खाने के रोटी पर टैक्स लगा कर कॉरपोरेट घराने को फायदा पहुंचा रही है। गैस के दाम आसमान छू रहा है सब्सिडी खत्म कर दिया गत उज्वला योजना के लाखों सिलिंडर खाली पड़े हुए हैं। लोग पुराने जबाने में लौट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इस दौर में भाकपा – माले से जनता की उम्मीद बढ़ीं है इस लिए हम इस समेलन से संकल्प ले कि पार्टी को साम्प्रदायिक फासीवाद हमले का प्रतिकार करने व बढ़ती महंगाई- बेरोजगरी के खिलाफ आंदोलन खड़ा करने वाली सश्क्त पार्टी बना दें।

इस सम्मेलन में मुख्य रूप से उद्घाटन करता अगिआंव विधायक कॉ. मनोज मंजिल सम्मेलन के पर्यवेक्षक जिला कमिटी सदस्य शिवमंगल सिंह, अतिथि गड़हनी प्रखंड सचिव छपित जी,अध्यक्षता करते विष्णु मोहन,दसई राम,प्रमोद यादव,जिला कमिटी सदस्य देवंती देवी,नेता जयकुमार यादव,नागेंद्र साह,बिनोद चौधरी,वीरेन्द्र सिंह,आज़ाद राम,नागेंद्र यादव,बिनोद केशरी,चंदेश्वर मास्टर,धनंजय कुमार,भोला यादव,भूषण यादव,रामकेवल राम,अखिलेश कुमार,उदय पाल आदि गण नेता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.