breaking News राज्य

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-: जिलाधिकारी, पटना डॉ चन्द्रशेखर सिंह के निर्देश पर जिला आपदा प्रबंधन शाखा, पटना के तत्वावधान में सार्वजनिक स्थानों पर *नियमित तौर पर अलाव जलाया जा रहा है, पंचायतों में कंबल का वितरण किया गया है तथा विभिन्न स्थलों पर रैन बसेरों/आश्रय घरों का संचालन किया जा रहा है।*

कई चौक-चौराहों, बाजारों, रैन बसेरों, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, अस्पताल सहित भीड़-भाड़ वाले स्थलों पर अलाव जलाया जा रहा है।

*आज 245 से अधिक स्थानों* पर अलाव जलाया जा रहा है।

नगर निकायों द्वारा *21 स्थानों पर रैन बसेरों/ आश्रय घरों* की स्थापना की गई है जिसमें अभी तक *लगभग 17,427 जरूरतमंदों को सुविधा प्रदान की गई है*।

डीएम डॉ सिंह के निर्देश पर जिला सामाजिक सुरक्षा कोषांग द्वारा *प्रत्येक पंचायत* में न्यूनतम 10 कंबल का वितरण किया गया है। पटना जिला में 3,561 कंबल का वितरण किया गया है।

ज़िलाधिकारी, पटना डॉ चन्द्रशेखर सिंह एवं विभिन्न वरीय पदाधिकारियों द्वारा लगातार जरूरतमंद लोगों के लिए कड़ाके की सर्दी से बचाव हेतु अलाव एवं रैन बसेरा की व्यवस्था का निरीक्षण किया जाता है, जरूरतमंदों के बीच कंबल का वितरण किया जाता है तथा लोगों से फ़ीड्बैक प्राप्त किया गया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रशासन जरुरतमंदों के साथ है। उनकी आवश्यकता के अनुसार जिला प्रशासन द्वारा सभी तरह की व्यवस्था की गई है। *रैन बसेरों में इस ठंड के मौसम में 24 घंटे टेंट, गर्म कंबल (दो कंबल, 1 खादी का), चादर, तकिया, गद्दा, शुद्ध पेयजल, बिजली, मच्छरदानी आदि की व्यवस्था की गई है। आवासित लोग इसका लाभ उठा रहे हैं। लोग संतुष्ट भी हैं।* प्रशासन द्वारा आगे भी आवश्यकता अनुसार सभी व्यवस्था की जाएगी।

*सभी अंचल अधिकारियों एवं नगर कार्यपालक पदाधिकारियों* को अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत मुख्य स्थानों पर नियमित तौर पर अलाव की व्यवस्था करने एवं रैन बसेरों/ आश्रय घरों का संचालन करने का निर्देश दिया गया है ताकि ठंड के कारण किसी को कोई समस्या ना हो।

*डीएम डॉ सिंह ने आवश्यकता अनुसार अलाव स्थलों तथा रैन बसेरों/ आश्रय घरों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया है*। उन्होंने सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को इसका अनुश्रवण करने का निर्देश दिया है।

डीएम डॉ सिंह ने आम जनता से भी बढ़ते ठंड के मद्देनजर एडवाइजरी का अनुपालन करने का आह्वान किया है।

डीपीआरओ, पटना