किशनगंज : खनन टास्क फोर्स की बैठक में अवैध खनन और ओवरलोडिंग पर कार्रवाई का डीएम ने दिया निर्देश।

breaking News District Adminstration Kishanganj राज्य

विभागीय लक्ष्य शत प्रतिशत प्राप्त करने हेतु लगातार करें छापामारी-डीएम

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, डीएम श्रीकांत शास्त्री की अध्यक्षता में जिला स्तरीय खनन टास्क फोर्स और तकनीकी पदाधिकारियों की बैठक उनके कार्यालय कक्ष में आयोजित की गयी। बैठक में डीएम द्वारा एजेंडावार समीक्षा की गई। जिलांतर्गत बालू घाट बंदोबस्त, बालू घाट पर घर्मकांटा उपलब्धता, प्रतिबंधित गाड़ियों से बालू परिवहन, अवैध उत्खनन, अवैध परिवहन, ईट भट्ठा संचालन, जांच, अवैध संचालकों पर कार्रवाई, रॉयल्टी संग्रहण, माइनिंग ईनफोर्समेंट हेतु वन के अधिकारियों से समन्वय आदि के बिन्दु पर गहन समीक्षा हुई। खनन विकास पदाधिकारी और खान निरीक्षक को जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि लगातार क्षेत्र भ्रमण कर अवैध खनन के विरुद्ध छापामारी करें तथा विभागीय पत्र के आलोक में कार्य करना सुनिश्चित करें। ओवरलोडिंग के विरुद्ध डीएम ने सख्त लहजे में कहा कि वाहनों की जब्ती/शमन की कार्रवाई अवश्य करें, अन्यथा उदासीनता बरतने पर गंभीरता से लेकर कार्रवाई की जाएगी। जिलाधिकारी ने सभी बालू घाट पर पर्यावरण सुरक्षा हेतु निर्धारित पौधा लगवाना, राजस्व संग्रहण, अवैध इट भट्ठा पर नियमानुसार कार्रवाई करें। खनन कार्य विभागीय प्रावधान के अनुसार ही बंद और चालू रहे, इसे सुनिश्चित करवाएं। जिला खनन कोष (डीएमएफ) से नियमानुसार व्यय करना, घाट का खनन प्लान तैयार करना सुनिश्चित करें। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि जहा भी इट भट्ठा का संचालन कामर्शियल रूप से हो रहा है, उस जमीन का संपरिवर्तन एसडीएम के माध्यम से निश्चित रूप से करवाए। अवैध खनन पर प्राप्त आसूचना पर त्वरित कार्रवाई करने हेतु खनन पदाधिकारियों समेत पुलिस पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया। निरीक्षण एवं छापामारी में क्यूआरटी टीम का उपयोग करने, तेज रफ्तार गाड़ियों को नियंत्रित करने, तदनुसार चेकपोस्ट पर आवश्यक व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। मालूम हो कि हैवी लोडिंग और तेज रफ्तार से सड़क क्षतिग्रस्त होने की संभावना के साथ राजस्व हानि की भी संभावना होती है। समीक्षा के क्रम में खनन विकास पदाधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि अवैध रूप से खनन में संलिप्त वाहनों, ईट भट्ठा पर जुर्माना कर नियमानुसार राशि वसूला गया है। निर्धारित राजस्व लक्ष्य के विरुद्ध रॉयल्टी राशि का संग्रहण किया जा रहा है। डीएम ने निर्देश दिया कि वैद्य तरीके से एवं स-समय रॉयल्टी भुगतान कर रहे हैं, उन्हें किसी तरह का कठिनाई का सामना ना करना पड़े। जिलाधिकारी द्वारा बालू परिवहन एवं ईट भट्टे के कार्यों पर निरंतर निगरानी करने तथा ईट भट्ठे के मालिक द्वारा रॉयल्टी भुगतान ससमय प्राप्त करने को कहा गया। साथ ही, इन सभी ईट भट्ठो का सत्यापन यथाशीघ्र कराने का निदेश दिया गया। कामर्शियल ईट भट्ठा मालिकों से भूमि परिवर्तन कराने हेतु कार्रवाई का निर्देश दिया गया। तकनीकी पदाधिकारियों के कार्यो की समीक्षा के क्रम में सभी कार्यपालक अभियंता के दायित्व व कार्यो और उपलब्धि की समीक्षा किया गया।जिलाधिकारी द्वारा निर्माणाधीन योजनाओं को गुणवत्तापूर्ण ससमय पूरा करने का निदेश दिया गया। इस बैठक में जिलाधिकारी के अतिरिक्त अपर समाहर्त्ता, अनुज कुमार, जिला स्तरीय विभिन्न विभागों के पदाधिकारी यथा अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमंडल, जिला खनन पदाधिकारी, खान निरीक्षक एवं इससे संबंधित अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.