डीएम ने प्रखंड एवं अंचल कार्यालय, सम्पतचक का किया निरीक्षण; आम जनता के कार्यों के निष्पादन में तेजी लाने का डीएम ने दिया निदेश।।…

breaking News राज्य

विकासात्मक एवं लोक कल्याणकारी कार्यक्रमों का सफल क्रियान्वयन प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता, पदाधिकारीगण सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंः डीएम

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-पटना, गुरूवार, दिनांक 15.09.2022ः- जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह द्वारा आज प्रखण्ड एवं अंचल कार्यालय, सम्पतचक का निरीक्षण किया गया। उन्होंने यहाँ स्थित लोक सेवा केंद्र, आपूर्ति कार्यालय, निर्वाचन कार्यालय सहित विभिन्न शाखाओं एवं कार्यालयों का निरीक्षण किया, पदाधिकारियों एवं कर्मियों की उपस्थिति की जांच की, उनका परिचय प्राप्त किया तथा उनके दायित्वों एवं कार्यों की जानकारी ली। निरीक्षण के वक्त सभी पदाधिकारी एवं कर्मी कर्तव्य पर उपस्थित थे।

गौरतलब है कि सम्पतचक प्रखंड में पंचायतों की संख्या 07 थी। इसमें 04 पंचायत यथा कनौजी कछुआरा, बैरियाकर्णपुरा, भेलवाड़ा दरियापुर एवं सोना गोपालपुर पंचायत अधिसूचित नगर परिषद में पूर्ण रूप से सम्मिलित हो गया है। नगर परिषद सम्पतचक में कुल 31 वार्ड है। प्रखंड कार्यालय, सम्पतचक में नगर परिषद, सम्पतचक के निर्वाचन हेतु नामांकन प्रक्रिया चल रही थी। जिलाधिकारी द्वारा इसका निरीक्षण किया गया। निर्वाची पदाधिकारी मो0 रियाज अहमद खान, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, पटना सिटी भी उपस्थित थे।

1. डीएम डॉ. सिंह द्वारा अंचल कार्यालय, सम्पतचक का निरीक्षण किया गया। उन्होंने पंजियों का संधारण, अनुक्रमणिका पंजी, रोकड़ बही, दाखिल खारिज, परिमार्जन, अतिक्रमणवाद, मापीवाद, भूमि विवाद निराकरण हेतु साप्ताहिक बैठक का आयोजन सहित विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा की।

2. ई-म्यूटेशन अंतर्गत प्रगति प्रतिवेदन की समीक्षा की गई। कुल प्राप्त 42,609 आवेदनों में से दिनांक 14 सितम्बर, 2022 तक 39,503 मामलों को निष्पादित किया गया है जो कुल प्राप्त आवेदनों का 92.71 प्रतिशत है। 283 आवेदन 63 दिन से अधिक समय से लंबित है। डीएम डॉ. सिंह ने इन आवेदनों को 02 सप्ताह के अंदर निष्पादित करने का निदेश दिया। परिमार्जन के तहत 11,300 आवेदन प्राप्त हुआ जिसमें 10,751 आवेदन को निष्पादित कर दिया गया है। यह प्राप्त आवेदनों का 95.14 प्रतिशत है। डीएम डॉ. सिंह ने शेष आवेदनों को शीघ्र निष्पादित करने का निदेश दिया।

3. वर्ष 2022-23 में नापीवाद से संबंधित 68 मामले दर्ज हैं जिसमें 61 मामलों को निष्पादित किया गया है। अतिक्रमणवाद के 07 मामले दर्ज किए गए हैं। इसमे से 02 वादों को निष्पादित किया गया है। डीएम डॉ. सिंह ने लंबित वादों को शीघ्र निष्पादित करने का निर्देश दिया।

4. डीएम डॉ. सिंह ने निरीक्षण मंे पाया कि नापी पंजी एवं अभिलेख, अतिक्रमणवाद पंजी, आगत-निर्गत पंजी एवं उपस्थिति पंजी विहित प्रपत्र में संधारित है। इस पर उन्होंने खुशी व्यक्त की तथा अनुक्रमणिका पंजी का भी ठीक से रख-रखाव सुनिश्चित करने का निदेश दिया। उन्होंने अप्रयुक्त राशि, जिसके व्यय की संभावना न हो, उसे सरकार के निदेशानुसार संबंधित शीर्ष में जमा कराने का निदेश दिया। अग्रिम राशि का भी शीघ्र समायोजन करने का निदेश दिया गया है।

5. डीएम डॉ. सिंह ने सभी कर्मियों का बायोमेट्रिक डिवाइस के माध्यम से उपस्थिति दर्ज कराने का निदेश दिया।

6. प्रखण्ड कार्यालय, सम्पतचक के निरीक्षण के क्रम में डीएम ने विभिन्न सेक्शन के कार्यों का अवलोकन किया। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी द्वारा विस्तृत प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। डीएम डॉ. सिंह ने आरटीपीएस, स्थापना, अंकेक्षण, लेखा, नजारत, आपूर्ति, कल्याण, सेवापुस्त का संधारण, आकस्मिक अवकाश पंजी, अनुक्रमणिका पंजी, रोकड़ बही, लोक सूचना का अधिकार सहित विभिन्न पंजियों को देखा तथा अद्यतन प्रगति का जायजा लिया।

7. प्रखंड विकास पदाधिकारी ने बताया कि हर घर नल का जल योजना अन्तर्गत योजनाएँ ली गई सभी 58 वार्डों में योजना पूर्ण हो चुकी है। घर तक पक्की गली नाली योजना अंतर्गत सम्पतचक में 354 योजनाएँ कार्यान्वित है जो शत-प्रतिशत पूर्ण हो चुका है।

8. दिनांक 01.09.2022 से दिनांक 14.09.2022 तक सम्पतचक प्रखंड में बिहार लोक सेवाओं का अधिकार अधिनियम के तहत 3,275 आवेदन प्राप्त हुआ। इसमें से समय-सीमा के अंदर 1,741 आवेदनों को स्वीकृत तथा 260 आवेदनों को अस्वीकृत किया गया। समय-सीमा के अंदर 1274 आवेदन लंबित है। डीएम डॉ. सिंह ने लंबित आवेदनों को भी समय सीमा के अंदर निष्पादित करने का निदेश दिया।

9. डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि आरटीपीएस के अंतर्गत आवेदनों के एक्सपायरी की संख्या शून्य रहनी चाहिए। निर्धारित समय-सीमा के अंदर आम जनता को सेवा उपलब्ध कराना प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है।

10. डीएम डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना, मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना, मुख्यमंत्री पारिवारिक लाभ योजना, बिहार राज्य निःशक्तता पेंशन योजना, लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना, कबीर अंत्येष्टि योजना, बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना सहित सभी योजनाओं में प्राप्त आवेदनों को ससमय निष्पादित करने का निदेश दिया।

11. डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि सामान्यतः कार्यालय प्रबंधन की स्थिति अच्छी पाई गई। उन्होंने आम लोगों के कार्यों के निष्पादन में तेजी लाने का निदेश दिया। डीएम डॉ. सिंह ने अग्रिम राशि का शीघ्र समायोजन करने का निदेश दिया।

12. प्रखंड एवं अंचल कार्यालय के निरीक्षण के पश्चात जिलाधिकारी द्वारा सम्पतचक में मनरेगा अंतर्गत कई योजनाओं की जाँच की गई। उन्होंने सोख्ता निर्माण, वृक्षारोपण एवं मिट्टी भराई कार्य का निरीक्षण किया। मध्य विद्यालय सम्पतचक परिसर में उन्होंने चार योजनाओं की गुणवत्ता की जाँच की। योजनाओं के मानकों के अनुसार सफल क्रियान्वयन पर उन्होंने हर्ष व्यक्त किया।

13. इस अवसर पर उप विकास आयुक्त श्री तनय सुल्तानिया, विद्यालय के प्राचार्य एवं अन्य भी उपस्थित थे।

14. विदित हो कि डीएम डॉ. सिंह द्वारा नियमित तौर पर जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड-स्तरीय कार्यालयों का निरीक्षण तथा कार्यों का अनुश्रवण किया जाता है। विगत दो महीना में उन्होंने चार अनुमंडलों तथा तीन महीना के अंदर चार में से तीन कोषागारों का निरीक्षण किया है। साथ ही उनके द्वारा कई कार्यालयों, प्रखंडों तथा पंचायतों का भी निरीक्षण किया गया है। डीएम डॉ. सिंह ने कहा कि सरकार के विकासात्मक एवं लोक कल्याणकारी योजनाओं का सफल क्रियान्वयन प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सभी पदाधिकारी इसके लिए सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.