*महान गांधीवादी और शिक्षाविद थे पूर्व राज्यपाल सिद्धेश्वर प्रसाद : प्रदेश अध्यक्ष डॉ अखिलेश प्रसाद सिंह*

breaking News राज्य

पूर्व राज्यपाल सिद्धेश्वर प्रसाद के निधन पर कांग्रेसजनों ने जताया शोक

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-इंदिरा गांधी सरकार में मंत्री व त्रिपुरा के पूर्व राज्यपाल रहें महान शिक्षाविद और गांधीवादी राजनेता सिद्धेश्वर प्रसाद का 94 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

विगत कुछ दिनों से उनकी तबीयत काफी खराब चल रही थी और पटना एम्स में वें भर्ती थे। उन्हें सांस संबंधी तकलीफ और उम्र संबंधी समस्याएं होने के बाद से एम्स पटना में भर्ती कराया गया था।

बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष डॉ अखिलेश प्रसाद सिंह ने उनके निधन पर शोक जताते हुए कहा कि वें शिक्षाविद के साथ महान गांधीवादी विचारक भी रहें। उनके निधन से राजनीतिक और सामाजिक क्षति हुई है जिसकी भरपाई निकट भविष्य में नहीं की जा सकती है। वें राजनीति में आने से पूर्व बिहार के नालंदा कॉलेज में प्रोफेसर थे। उनको लंबा राजनीतिक अनुभव रहा है तथा बिहार सरकार के साथ केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी उन्होंने योगदान दिया था। वे हिंदी भाषा के लेखक रहें और उनकी हिंदी भाषा में 22 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं।

उनके निधन पर बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार, विधानमंडल में दल के नेता अजीत शर्मा, पूर्व अध्यक्ष व विधान परिषद में दल के नेता डॉ मदन मोहन झा, पूर्व गृह केंद्रीय राज्यमंत्री शकील अहमद, मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़, प्रवक्ता आनंद माधव, अजय चौधरी, कपिलदेव यादव, राजकुमार राजन, ई. संजीव सिंह, पूर्व विधायक बंटी चौधरी, वरिष्ठ नेता ब्रजेश पांडेय, पूर्व युवा अध्यक्ष कुमार आशीष, डॉ स्नेहाशीष वर्धन पांडेय, युवा कांग्रेस अध्यक्ष गरीबदास, एनएसयूआई अध्यक्ष चुन्नू सिंह सहित वरिष्ठ नेताओं ने शोक व्यक्त किया।