बाघ का भोजन आम आदमी

बगहा


बगहा से रविराज गुप्ता की खबर
10 दिन पूर्व ही बाघ के हमले में मरे ब्यक्ति के मुआवजे के लिये हरनाटांड़ रेंजर ऑफिस का घेराव बरवा कला गांव के ग्रामीणों ने किया था। इस घटना को बीते अभी 10 दिन भी नही हुआ कि आज फिर से उसी गाँव के एक किसान को उसी आदमखोर बाघ से अपना शिकार बनाया है। DFO के इतने आश्वासन के बावजूद उस आदमखोर बाघ को रिहायशी इलाके से दूर नही किया गया है जिसका नतीजा आज फिर ग्रामीणों को भूगतना पड़ रहा है। गांव वाले आग बबूला होकर बाघ को ढूंढ रहे हैं। जंगल विभाग पर आक्रोश फिर से फुट पड़ा है जैसे ही खबर फैली है बगहा से आलाधिकारियों की टीम पीड़ित के गाँव के तरफ दौड़ लगाने लगे क्योंकि 10 दिन पहले ग्रामवासियों का आक्रोश जैसे दिखाई दिया था उससे सभी अधिकारी संकट में आ गये थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.