किशनगंज : बीजेपी नेताओं का बिहार की सरकार को जंगलराज कहा जाना एक साजिश : इन्तखाब आलम

breaking News District Adminstration Kishanganj ताजा खबर प्रमुख खबरें राजनीति राज्य

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के सदस्य इन्तेखाब आलम ने भाजपा द्वारा बिहार की मौजूदा महागठबंधन सरकार को जंगलराज कहे जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि बिहार में नीतीश के बिना BJP का अपना कोई वजूद नहीं, इसलिए उनकी जुदाई से भाजपाई बौखला गए हैं और अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। इन्तेखाब का कहना है कि ना सीएम बदला, ना सरकार का कोई भी कर्मचारी फिर बिहार में जंगलराज कैसे आ गया ? उन्होने कहा कि भाजपा लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रही है और यह कोशिश एक साज़िश के तहत की जा रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इन्तेखाब आलम का कहना है कि जंगलराज-जंगलराज कहकर असल में भाजपा लोगों को वैसे ही डराने की कोशिश कर रही है जैसे किसी जमाने में अबोध बच्चे को भूत-प्रेत के नाम से डराया जाता था। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता शायद यह बात भूल गए हैं कि यह 21वीं सदी है, जिसमें मानव मस्तिष्क और टेक्नॉलोजी के विकास ने भूत-प्रेत की मिथ्या को खत्म कर दिया है और अब कथित जंगलराज का भ्रम भी दूर हो गया है। अब लोग छलावे में नहीं आएंगे क्योंकि वे अब डरते नहीं, लड़ते हैं। आलम ने ज़ोर देकर कहा कि लोग अब भाजपा का असली चरित्र पढ़ चुके हैं। भाजपा लाख कोशिश कर ले अब लोग उसके बहकावे में आने वाले नहीं। उन्होने कहा कि बेरोजगारी, महंगाई और कई अन्य बिन्दुओं पर पिछड़ चुकी भाजपा लोगों को गुमराह करके अपनी नाकामियों पर पर्दा डालना चाहती है। उन्होंने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे BJP के बहकावे में नहीं आएं, क्योंकि ये वो पार्टी है जो जख्म भी देती है और छाती भी पिटती है। उनका आरोप है कि हाल के दिनों में प्रदेश में हो रही अपराधिक घटनाएं महागठबंधन सरकार को बदनाम करने के लिए भाजपा के इशारे घटित हो रही हैं। इन घटनाओं से भाजपाईयों को तकलीफ नहीं हो रही, बल्कि मजा आ रहा है क्योंकि इसमें उन्हें सियासी मुद्दा और मशाला दिखता है। उन्होने कहा कि भाजपा बिहार की शासन व्यवस्था को जंगलराज कह कर बिहार की छवि को धुमिल कर रही है। ऐसा करने से बाहर के प्रदेशों और मुल्कों में रहनेवाले बिहारियों को भारी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होने BJP नेताओं को चेताया कि बिहार बुद्ध की धरती है बुद्धुओं की नहीं, इसलिए जंगलराज का ढिंढोरा पिटना बंद करें, अन्यथा आने वाले समय में बिहार के लोग अपनी बदनामी का बदला जरूर लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.