को बिहार विधान परिषद् का 202 वें सत्र का समापन हुआ। इस सत्र में कुल पांच बैठकें आयोजित हुई।

breaking News राज्य

त्रिलोकी नाथ प्रसाद। सत्रावधि के लिए कुल 448 प्रश्‍नों की सूचनाएं प्राप्‍त हुई, जिनमें से 389 प्रश्‍नों को स्‍वीकृत किया गया। नेवा के माध्‍यम से कुल 309 प्रश्‍नों के उत्तर ऑनलाईन प्राप्‍त हुए, जो लगभग 80 प्रतिशत है।

वर्तमान सत्र के दौरान माननीय सदस्‍यों ने अपने संसदीय दायित्‍वों का निर्वहन करते हुए जनसामान्‍य की समस्‍याओं से सम्‍बद्ध कई महत्‍वपूर्ण विषय सदन के माध्‍यम से सरकार के संज्ञान में लाने का कार्य किया है। सरकार द्वारा इन विषयों पर सम्‍यक विचार एवं समाधान के प्रयास करने की बात कही गई। कई समस्‍याओं का निदान भी कराया गया। सदन में सरकार ने जनता की समस्‍या के समाधान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है।

उच्‍च सदन में गरिमा के अनुरूप राजकीय कार्यों के निष्‍पादन के साथ-साथ जनहित के मुद्दों पर सार्थक चर्चा की गई, जिसके लिए माननीय सभापति श्री देवश चंद्र ठाकुर ने सभी माननीय सदस्‍यों को सहृदय धन्‍यवाद ज्ञापित किया। सभापति महोदय ने माननीय मुख्‍यमंत्री, मा. उप मुख्‍यमंत्री, माननीय नेता विरोधी दल, मा. मुख्‍य सचेतक, सत्तारूढ़ दल का आभार व्‍यक्‍त किया कि इन्‍होंने अपने संसदीय दायित्‍यों के प्रति गहरी निष्‍ठा का परिचय दिया। साथ हीं प्रिंट एवं इलेक्‍ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार एवं छायाकार बंधुओं के प्रति भी धन्‍यवाद ज्ञापित किया, जिन्‍होंने सदन की कार्यवाही को अपनी रिपोर्टिंग के माध्‍यम से प्रकाशित और प्रसारित कर जनसाधारण के प्रति दयित्‍यों एवं सरोकारों को जनता तक पहुँचाने का काम किया। सभापति महोदय ने कहा कि अगले सत्र से सत्र का समापन *बिहार गौरव गीत* के साथ किया जाएगा।

*अजीत रंजन*
*जनसंपर्क पदाधिकारी*
*बिहार विधान परिषद|*