किशनगंज : पैट्रोल टैंकर फटने से तीन व्यक्ति की घटना स्थल पर हुई मौत एक घायल।

breaking News अपराध राज्य

पटना/डेस्क-हाजीपुर-मुजफ्फपुर NH 22 पर गोरौल थाना क्षेत्र के कटरमाला चौक गोढ़ीया के निकट सड़क किनारे तेल टैंकर बेल्ड़िंग करने के दौरान अचानक टैंकर फट गया जिससे तीन लोगों की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। साथ ही एक व्यक्ति बुरी तरह जख्मी हो गया। मृतक में बेल्ड़िंग दुकानदार थाना क्षेत्र के वेलवर गांव निवासी गिरधारी सहनी का 48 वर्षीय पुत्र वकील सहनी, टैंकर चालक नालंदा जिले के कराय परशुराम थाना अंतर्गत चौकी हुरारी एवं खलासी सिवान जिले के विनोद चौधरी का 40 वर्षीय पुत्र अर्जुन कुमार के रूप में किया गया है।वही जख्मी गोरौल थाना के इस्लामपुर गांव निवासी कौशल कुमार को सदर अस्पताल हाजीपुर रेफर किया गया है। घटनास्थल पर प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कटरमाला चौक गोढ़ीया पर मृतक बेल्ड़िंग का दुकान चलाता था। इसी दुकान पर बेल्ड़िंग कराने भारत पेट्रोलियम का खाली टैंकर सँख्या-BR01GH-8913 के चालक एवं खलासी ने गाड़ी लगाया था। बेल्ड़िंग करने के लिए तीनो मृतक टैंकर के ऊपर चढ़कर बेल्ड़िंग कर एवं करा रहे थे कि इसी दौरान टंकी में भारी विस्फोट हो गया। विस्फोट इतना जोरदार था कि मृतक चालक लगभग 30 फिट दूरी एवं लगभग 30 फिट ऊँचाई पर दीवार से टकराकर नीचे गिरा जिससे शव शत विक्षप्त हो गया। वही टँकी का अवशेष लगभग 30 फिट तक इधर उधर बिखर गया। धमाका इतनी जोरदार था कि आसपास के कई लोगो की हालत केवल धमाका सुनकर बिगर गया जिसका इलाज चल रहा है। लगभग तीन किलोमीटर तक इस विस्फोट की आवाज को सुना गया है। सबसे बड़ी बात यह थे कि जहाँ पर बेल्ड़िंग किया जा रहा था उससे चंद कदमो पर ही एनएच 22 है। जिससे दर्जनों गाड़िया प्रति क्षण गुजरती रहती है। यदि टंकी का अवशेष किसी पैसेजर गाड़ी पर गिर जाता तो बड़ी हादसा हो जाती। घटना को देखते ही सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण जुट गए और शव को सड़क पर रखते हुय टायर जलाकर सड़क को जाम कर दिया और मुआवजे की मांग करने लगे। विरोध प्रदर्शन इतना जोरदार था कि वरीय पुलिस अधीक्षक मजफ्फरपुर एवं एएसपी रक्सौल को भी सामना करना पड़ा। सूचना मिलते ही अंचलाधिकारी ब्रजेश कुमार पाटिल, थानाध्यक्ष संजीव कुमार, अवर निरीक्षक विदुर कुमार, सहायक अवर निरीक्षक सुनील कुमार सिंह, संजय सिंह, जिन्ना खान पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुचकर शव को अपने कब्जे में लेने का प्रयास करने लगे, लेकिन उपद्रवियों ने कई वार पुलिस पदाधिकारी को खदेड़ दिया। जिसके बाद महुआ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पूनम केशरी घटनास्थल पर पहुची। आक्रोशित लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया और लगभग चार घण्टे की भारी मशक्कत के वाद तीनो शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल भेजा और जाम को हटाते हुय आवागवन को चालू कराया। मृतक के परिजनों को मुखिया जानकी देवी ने कबीर अंत्योष्टि योजना के तहत तीन हजार रुपये दिया। घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.