विधायक से परेशान जमीन बेचने को बेताब

Uncategorized ताजा खबर

रविरंजन मिश्रा की रिपोर्ट

मैं ताराचंद प्रसाद वल्द (स्व.) लखी साह (कानू) नगर पंचायत मच्छरगावां (जो अभी हाल ही में ग्राम पंचायत से बदल कर नगर पंचायत हुआ है) थाना योगापट्टी जिला पश्चिम चम्पारण बिहार का स्थाई निवासी हूं।
मेरा घर जिस जमीन पर है उसे विधायक विनय बिहारी के परदादा बाबू लखन प्रसाद सिंह के द्वारा मेरे परदादा गंगा साह कानू के नाम पर डेढ़ कट्ठा जमीन सन् 1931 में खेष्टा बैनामा किया गया और तभी से मेरे पूर्वज उस जमीन पर दखल कब्जा कर घर बना कर रह रहे हैं।
मेरे पूर्वज पढ़े लिखे नहीं थे जिसके चलते वे दाखिल खारिज नहीं करा सके । आगे चलकर सन् 1969-70 में मेरे पिता जी के द्वारा अंचल से उस जमीन का बंद बस्ती कराया गया । फिर सन् 1988 में नौ डिसमिल जमीन का खतीयान मिला जो हमारे पास है। पिछले बीस साल से अधिक समय से विधायक विनय बिहारी के पिता, चाचा और अब विधायक विनय बिहारी के द्वारा हमें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। कुछ साल पहले उनके द्वारा मारपीट और केश मुकदमा भी किया गया था। हम जब भी घर बनाने का प्रयास करते है विधायक विनय बिहारी के द्वारा रोक दिया जाता है। पहले ये कहते थे ये जमीन आपका नहीं है अब कहते हैं आप अधिक जमीन में घर बना रहे हो । जिसके चलते जमीन का नापी अंचल से कराया गया अब जब फिर से हम अपने अधुरे घर को बनवाने जा रहे हैं तो इनके द्वारा अंचलाधिकारी (योगापट्टी) को भेजकर रोका जा रहा है । हमने अंचलाधिकारी को अंचल के द्वारा किए गए नापी के किए कागज दिखाया परंतु वे उस नापी को मानने से इंकार कर रहे हैं । फिर हमने अंचल में जमीन के नापी लिए 12/03/2022 को दोबारा आवेदन दिया। जिसके बाद अंचल से 14/05/2022 को जमीन के नापी का नोटिस आया जिसमें विधायक विनय बिहारी नहीं आए जिसके चलते नापी नहीं हो सका। जिसके बाद 27/05/2022और 06/06/2022 को भी नापी का तारीख रखा गया लेकिन विधायक विनय बिहारी के नहीं आने के कारण अभी तक नापी नहीं हो सका।अब फिर से जब अपने घर में काम कर रहे थें तो विधायक जी के द्वारा योगापट्टी थाना के छोटा बाबू को भेज कर मुझे उठवा लिया गया और थाना में ले जाकर जबरन मुझसे दो बौंड पर साइन कराया गया । हमें अब प्रशासन या अंचलाधिकारी महोदय से निश्पक्ष जांच और न्याय कि तनीक भी उम्मीद नहीं है क्योंकि जैसा विधायक जी कह रहे हैं थाना के छोटा बाबू और अंचलाधिकारी भी वैसा ही कर रहे हैं। हम इनके अत्याचार से तंग आ चुके हैं। हमने कई बार एस.पी, डि.एम से लेकर मुख्यमंत्री जी तक को आवेदन दिए गुहार लगाई पर इससे तत्काल प्रभाव तो हुआ लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो सका । मेरा एक लड़का है मुझे उसके भविष्य कि भी चिंता है क्योंकि मेर स्वास्थ्य भी खराब हि रहता है । मैं इन सब से परेशान हो चुका हूं । अब मुझे कैसे भी करके न्याय चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.