माननीय कृषि मंत्री द्वारा किसान काॅल सेंटर, मिट्टी जाँच/बीज विश्लेषण प्रयोगशाला का किया गया औचक निरीक्षण एवं दिये आवश्यक निदेश।।…

breaking News राज्य

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-माननीय मंत्री, कृषि विभाग, बिहार श्री सुधाकर सिंह द्वारा आज रसायन भवन, मीठापुर अवस्थित किसान काॅल सेन्टर, मिट्टी जाँच एवं बीज विश्लेषण प्रयोगशाला का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर कृषि निदेशक डाॅ॰ आदित्य प्रकाश, निदेशक उद्यान श्री नन्द किशोर, संयुक्त निदेशक (रसायन) श्री कृष्णकांत झा उपस्थित थे।

माननीय मंत्री किसान काॅल सेन्टर के क्रिया-कलापों का अवलोकन किया गया एवं फार्म टेलि एडवाजर द्वारा किसानों को टेलिफोन पर दिये जा रहे जवाब से संतुष्ट हुए। साथ ही, एक किसान से उन्होंने स्वयं भी बात किया। माननीय मंत्री द्वारा किसानों को प्राथमिकता के आधार पर किसान सम्मान निधि योजना, राज्य में उर्वरकों की उपलब्धता एवं डीजल अनुदान से संबंधित समस्याओं का समाधान करने हेतु निदेश दिया गया। माननीय मंत्री द्वारा दिये गए दिशा-निदेश के आलोक में त्वरित कार्रवाई करने हेतु कृषि निदेशक द्वारा संबंधित विभागीय पदाधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।

उप निदेशक (शष्य), बीज विश्लेषण, बिहार, पटना द्वारा बताया गया कि कृषि विभाग, बिहार के अंतर्गत पटना अवस्थित राज्यस्तरीय बीज विश्लेषण प्रयोगशाला सहित अन्य छः क्षेत्रीय बीज विश्लेषण प्रयोगशालाएँ क्रमशः कैमूर (भभुआ), मुजफ्फरपुर, भागलपुर, सहरसा, दरभंगा एवं मोतिहारी कार्यरत हैं। इन प्रयोगशालाओं में बीज की भौतिक शुद्धता, नमी एवं अंकुरण क्षमता की जाँच की जाती है। इन प्रयोगशालाओं में तीन प्रकार के बीज नमूना प्राप्त होते हैं। आधिकारिक नमूना, जो जिला कृषि पदाधिकारी/अनुमंडल कृषि पदाधिकारी एवं बीज निरीक्षक द्वारा प्राप्त होते हैं। सर्विस नमूना, जो किसान एवं अन्य जो बीज का उत्पादन करते हैं। साथ ही, जिला कृषि पदाधिकारी/अनुमंडल कृषि पदाधिकारी अपने बीज गुणन प्रक्षेत्रों तथा अपने जिला अंतर्गत किसानों से प्राप्त कर भेजा जाता है। प्रमाणन नमूना, यह बसोका द्वारा अपने बीज प्रमाणन हेतु बीज नमूना भेजा जाता है। परन्तु वर्तमान में प्रमाणन नमूना प्राप्त नहीं हो रहा है। क्योंकि बसोका द्वारा अपने स्वयं के प्रयोगशाला में जाँच की प्रक्रिया की जा रही है। माननीय मंत्री द्वारा 5 से 10 प्रतिशत रेफरी नमूना एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी को भेजने के विषय पर चर्चा की गयी। इस संबंध में उप निदेशक (शष्य), बीज विश्लेषण द्वारा बताया गया कि 5 प्रतिशत बीज नमूना पूर्व से ही एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी को भेजी जाती है। क्योंकि

एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी द्वारा 5 प्रतिशत रेफरी नमूना सभी बीज विश्लेषण प्रयोगशाला को भेजने हेतु प्रस्तावित है।

इसी क्रम में सहायक निदेशक (शष्य), बीज विश्लेषण द्वारा माननीय मंत्री को बताया गया कि 24 से 26 अगस्त, 2022 को एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी में बीज विश्लेषण कर्मशाला का आयोजन था, जिसमें सभी बीज विश्लेषण प्रयोगशालाओं के सहायक निदेशक (शष्य) ने भाग लिया। इस कर्मशाला में एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी के प्रतिनिधि द्वारा चर्चा की गयी कि बिहार देश स्तर पर दूसरे स्थान पर बीज विश्लेषण में कार्य कर रहा है। ये मूल्यांकन रेफरी नमूनों के एन॰एस॰आर॰टी॰सी॰, वाराणसी के जाँच के आधार पर किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.