तीन दिवसीय जिला स्तरीय संकीर्तन सम्मेलन सह प्रतियोगिता का आयोजन।।…

breaking News राज्य

नेपाल समेत जिला क्षेत्र के दर्जनों कीर्तन मण्डलिया ले रही हैं भाग

विजेता उपविजेता को दिया जायेगा चांदी जरा शील्ड समेत अन्य उपहार

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-जयनगर रेलवे स्टेशन परिसर स्थित दुर्गा मंदिर के समीप ॐ सनातन संकीर्तन मंडली मिथिलापुरी के तत्वावधान में 24 वां तीन दिवसीय जिला स्तरीय संकीर्तन सम्मेलन सह प्रतियोगिता का आयोजित की जा रही हैं। गुरुवार की देर शाम संकीर्तन सम्मेलन प्रतियोगिता का शुभारंभ मंगलाचरण में पंडित राजू तिवारी के द्वारा शंख नाद कर और महासचिव शिव कुमार गुप्ता के द्वारा विधिवत पूजा पाठ आरती के साथ प्रारम्भ हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता आयोजन समिति के अध्यक्ष ईश्वर दयाल और संचालन संयुक्त रूप से राजू वाजपेयी और शिक्षक दुर्गेश कुमार ने किया। मुख्य अतिथी नगरपंचायत के मुख्य पार्षद कैलाश पासवान, उप मुख्यपार्षद माला देवी, समाज सेवी अरुण जैन समेत अन्य अतिथियों और आयोजन समिति के सदस्यों के द्वारा संयुक रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया । आयोजकों के द्वारा अतिथियों को पाग दोपट्टा चादर फूल माला पहनाकर स्वागत और सम्मानित किया गया। आयोजन समिति के महासचिव शिव कुमार गुप्ता शिबू महाजन ने बताया कि संस्था की स्थापना 1998 में कई थी । यह 24 वां धार्मिक अनुष्ठान जिला स्तरीय संकीर्तन सम्मेलन सह प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा हैं। प्रतियोगिता में मण्डलियों के द्वारा प्रस्तुति की गई स्वर तय राग लय भाव गीत संगीत को देखा जाता हैं और निर्णायक मंडली विजेता उपविजेता निर्णय करती हैं। आयोजन समिति के द्वारा विजेता और उपविजेता को चांदी जरा शील्ड और नगद राशि प्रमाण पत्र समेत प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया जाता हैं। ईस वर्ष भी नेपाल समेत जिला क्षेत्र और स्थानिय लगभग तीन दर्जन से अधिक कीर्तन मंडलीया संकीर्तन सम्मेलन और प्रतियोगिता में भाग ले रही हैं। कार्यक्रम के अंतिम दिन विजेता , विजेताओं और प्रतियोगिता में भाग लेने वाले मण्डलियों को पुरस्कृत किया जायेगा। कार्यक्रम के पहले दिन संकीर्तन सम्मेलन का शुभारंभ प्रसिद्ध कलाकार गायक संस्था के अध्यक्ष सह कलाकार ईश्वर दयाल के द्वारा गणेश वंदना प्रसिद्ध गायक इन्द्र साह के द्वारा सरस्वती वंदना, प्रो.कृष्ण कुमार के द्वारा माँ भगवती की मैथीली भक्ति शिक्षक दुर्गेश कुमार ने धार्मिक संगीत एवं दीनानाथ पांडेय ने धार्मिक गीत समेत अन्य गायकों और मण्डलियों के द्वारा सूमधुर हिन्दी मैथिली गीत संगीत भजन कीर्तन की प्रस्तुति दी गई। ऑर्गन पर दिनेश निर्वाणी इलेक्ट्रॉनिक की बोर्ड पर नागेंद्र अमोद, तबला पर सत्यनारायण मिश्र और प्रमोद , नाल पर रणजीत समेत अन्य वादको कलाकारों ने मंडलियों एवं गायकों का साथ देते हुए खूब जुगलबंदी दी। वक्तताओं ने उदघाटन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि ईश्वर की आराधना करने का सबसे उत्तम सुगम मार्ग भजन कीर्तन हैं इसको करने से मन मे शांति मिलती हैं। पुरातन संस्कृति विलुप्त हो रही हैं सम्मेलन और प्रतियोगिता के माध्यम से सन्देश देते हुए समाज मे और नयी पीढ़ी के युवाओं को बढ़ावा देने को लेकर ईस तरह के धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन किया जा रहा हैं। मिथिला धाम जानकी विद्यापति कोशी कमला बलान शिलानाथ धाम की पवित्र धरती हैं। मौके पर संस्था के मुख्य संरक्षक कैलाशी बाबा, संरक्षक अखिलेश्वर सिंह, अरुण जैन, अध्यक्ष ईश्वर दयाल, महासचिव शिव कुमार गुप्ता, ललन कपड़ी,इन्द्र साह, अरुण मण्डल, सूर्यनारायण मण्डल, अरविंद तिवारी, भोला प्रसाद , दुर्गेश कुमार , दीनानाथ पांडेय, जय नारायण यादव, धीरेंद्र झा समेत कई लोग उपस्थित थे। संस्था के कई पदाधिकारी और सदस्यगण कार्यक्रम को सफल बनाने में सक्रिय हैं। कार्यक्रम में श्रोताओं की काफी भीड़ देखी गई। यह धार्मिक अनुष्ठान नव वर्ष के शुभमंगल मय आगमन को लेकर क्षेत्र भक्तिमय हो गया हैं।