हिन्दी दिवस के अवसर पर प्रमंडलवासियों के नाम आयुक्त का संदेश: हिन्दी भाषा के संरक्षण एवं संवर्द्धन के लिए प्रतिबद्ध रहने की आवश्यकता।…

breaking News राज्य

वैश्वीकरण एवं डिजिटल क्षेत्र में हिन्दी काफी *प्रचलित एवं लोकप्रिय* : आयुक्त

आयुक्त ने कहा:आधुनिक तकनीकों का प्रयोग हिन्दी के प्रसार एवं विकास में *उत्प्रेरक* की भूमिका निभाता है

त्रिलोकी नाथ प्रसाद:-पटना, बुधवार, दिनांक 14 सितम्बर, 2022ः *हिन्दी दिवस के अवसर पर प्रमंडलवासियों के नाम अपने एक संदेश* में आयुक्त, पटना प्रमंडल श्री कुमार रवि ने कहा कि हिन्दी हमारी *राष्ट्रभाषा* है। इसके *संरक्षण एवं संवर्द्धन* के लिए हम सबको *प्रतिबद्ध* रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आज ही के दिन 14 सितम्बर, 1949 को *संविधान सभा द्वारा हिन्दी को भारत की राजभाषा* के रूप में स्वीकारा गया। संविधान के भाग XVII में अनुच्छेद 343 से 351 तक *आधिकारिक भाषा* का प्रावधान है। इसके *अध्याय 1* में भारतीय संघ की भाषा का वर्णन किया गया है। इस अध्याय के अनुच्छेद 343 में संघ की *आधिकारिक भाषा* का उल्लेख है। *अनुच्छेद 343(1)* के अनुसार *भारतीय संघ की आधिकारिक भाषा देवनागरी लिपि में हिन्दी* है। आठवीं अनुसूची में हिन्दी के साथ 22 भाषा को शामिल किया गया है। अनुच्छेद 351 में हिन्दी भाषा के प्रसार एवं विकास के लिए उल्लेख किया गया है।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि *हमारा राज्य बिहार हिन्दीभाषी राज्य है एवं यहाँ वर्ष 1950 से ही राजभाषा अधिनियम लागू* है।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि *वैश्वीकरण एवं डिजिटल क्षेत्र में हिन्दी काफी प्रचलित एवं लोकप्रिय* है। आधुनिक तकनीकों का प्रयोग हिन्दी के प्रसार एवं विकास में *उत्प्रेरक* की भूमिका निभाता है।

आज आयुक्त श्री रवि के निदेश पर प्रमण्डलीय राजभाषा कार्यालय के तत्वावधान में आयुक्त कार्यालय में *हिन्दी दिवस समारोह* का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आयोजित *सेमिनार एवं व्याख्यान* में अधिकारियों तथा कर्मियों द्वारा *‘‘राजभाषा हिन्दी की महत्ता एवं उसकी भूमिका’’* विषय पर प्रकाश डाला गया। आयुक्त के सचिव-सह-प्रभारी उप निदेशक, राजभाषा श्री एस एम कैसर सुल्तान, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी श्री सर्व नारायण यादव, संयुक्त आयुक्त-सह-सचिव, क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकार श्री राकेश कुमार, उप निदेशक, खाद्य श्री धीरेन्द्र कुमार झा, उप निदेशक, पंचायती राज डॉ. विद्यानन्द सिंह, उप निदेशक, सूचना एवं जन-सम्पर्क श्री लोकेश कुमार झा, उप निदेशक, कल्याण श्री चन्द्र प्रकाश सिंह, क्षेत्रीय योजना पदाधिकारी श्री विपिन कुमार, प्रशाखा पदाधिकारी श्री रामचन्द्र मंडल, प्रशाखा पदाधिकारी श्री राधेश्याम झा, कार्यपालक सहायक श्री रवि कुमार सहित अनेक वक्ताओं ने अपना-अपना मंतव्य व्यक्त किया।

वक्ताओं ने कहा कि हिन्दी हमारी राष्ट्रभाषा है। इसके विकास के लिए हम सभी दृढ़ संकल्पित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.