किशनगंज : नगर परिषद के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए सीधे मतदान करने की सूचना जारी।

breaking News District Adminstration Kishanganj ताजा खबर प्रमुख खबरें राज्य

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा नगर निकाय चुनावों में सीटों के आरक्षण संबंधित बाधा को समाप्त करते हुए नगर परिषद के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए सीधे मतदान करने की सूचना जारी कर दी गई है। इसके साथ ही कई दिनों से चुनावों की तारीख और नियम कानून को लेकर जारी गतिरोध समाप्त हो गया है। वहीं विभाग के द्वारा स्थिति साफ करने के साथ ही चुनावों की तैयारियों के तहत प्रत्याशी सक्रिय होने लगे हैं। अंदरखाने से चर्चा नगर परिषद अध्यक्ष एवं अन्य पदों के लिए चुनाव लड़ने की चर्चा करने वाले अब सामने आने लगे हैं। पूर्व में जीते वार्ड पार्षद पुन: क्षेत्र में भ्रमण करने के साथ ही लोगों का कुशल क्षेम पूछते भटकना शुरू कर दिए हैं। पिछले चुनाव में कुछ मतों के अंतराल से मात खाने वाले भी वार्डों में अपनी उपस्थिति दर्ज करवा रहे हैं। नगर परिषद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव सीधे जनता के मत से होने के बाद अब अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी भी मैदान में निकलने की तैयारी शुरू कर दिए हैं। हालांकि उपाध्यक्ष पद के आरक्षण को लेकर कोई स्पष्ट आदेश नहीं होने के कारण थोड़ा संशय बना हुआ है। पूर्व की तरह सीट रहने की बात कर दावेदार सामने आ रहे हैं। नगर निकाय चुनावों में हो रहे विलंब के कारण पार्षद अपने क्षेत्र में सक्रिय होने के बाद फिर से शिथिल हो चुके थे। इसमें आरक्षण रोस्टर और अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए चुनाव के तरीके को लेकर लोगों में अधिक संशय था। लेकिन नगर विकास विभाग की एक अधिसूचना ने नेताओं में उर्जा का संचार कर दिया है। मतदाताओं को रिझाने के लिए नेता सक्रिय भूमिका में नजर आने लगे हैं। पूर्व के विजेता अपने कार्यों का बखान करने में लगे हैं। वहीं सालों भर गायब रहने वाले भी मतदाताओं का कुशल क्षेम पूछते गलियों में नजर आ रहे हैं। नजारा इतना ही नहीं सड़कों से वाहनों व साइकिलों से गुजरते लोगों तक को आवाज लगा हाल-चाल की जानकारी ले रहे हैं। पूर्व में पार्षद की दौड़ में पिछड़ने वाले कई प्रत्याशी पूर्व के वादे के बावजूद कार्य नहीं होने की बात लोगों को याद दिला रहे हैं। ताकि हवा का रुख अपने तरफ किया जा सके। मुख्य रूप से अपने करीबियों को आवास योजना का लाभ दिलाने के नाम पर किए गए खेल की चर्चा नए प्रत्याशी करते नजर आ रहे हैं। अब धीरे-धीरे चुनावी हलचल तेज होने की संभावनाएं बनती जा रही है। नगर परिषद क्षेत्र में पहली बार मतदाता द्वारा सीधे अध्यक्ष को चुनने का अधिकार मिल चुका है। अब पहले की तरह पार्षद की खरीद-फरोक्त की स्थिति पर विराम लगेगा। इस बार मतदाता सूची प्रकाशन के अनुसार 34 वार्ड के 86 हजार 248 मतदाता सीधे अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए मतदान करेंगे। इसको लेकर मतदाता भी उत्साहित है कि अब पहले की तरह अध्यक्ष के चुनाव में पार्षदों की मनमानी नहीं चलेगी और नगर परिषद के चुनाव से लेकर नेताओं के चुनाव में पारदर्शिता आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.