किशनगंज : बिहार कर्मचारी चयन आयोग, पटना द्वारा आयोजित प्रतियोगिता परीक्षा के सफल आयोजन एवं संपादन हेतु डीआरडीए में डीएम की अध्यक्षता में ब्रीफिंग आयोजित।

breaking News District Adminstration ताजा खबर प्रमुख खबरें राज्य

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, डीएम श्रीकांत शास्त्री की अध्यक्षता में बिहार कर्मचारी चयन आयोग, पटना द्वारा आयोजित तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त (प्रारंभिक) प्रतियोगिता परीक्षा के सफल आयोजन एवं संपादन हेतु रचना भवन डीआरडीए में सभी उड़नदस्ता दंडाधिकारी, पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट, केंद्राधीक्षक, प्रेक्षक, स्टेटिक दंडाधिकारी और सभी संलग्न कर्मी/पदाधिकारी के साथ ब्रीफिंग आयोजित की गई। उक्त परीक्षा हेतु आयोग स्तर से एक नोडल अधिकारी तथा दो सहायक नोडल अधिकारी नामित करने का निर्देश था। तदनुसार नोडल अधिकारी के रूप में अनुज कुमार, अपर समाहर्त्ता तथा सहायक नोडल अधिकारी के रूप में जिला शिक्षा पदाधिकारी सुभाष कुमार गुप्ता और वरीय उप समाहर्त्ता, रंजीत कुमार नामित कर परीक्षा के सफल आयोजन हेतु प्राधिकृत किए गए है। बैठक में जिला दंडाधिकारी एवं समाहर्त्ता के द्वारा बताया गया कि जिले के 15 नामित परीक्षा केंद्रों पर दिनांक 23.12.2022 को दो पालियों में (प्रथम पाली 10 बजे पूर्वाह्न से 12:15 बजे अपराह्न तक एवं द्वितीय पाली 2 बजे से 4:15 बजे अपराह्न तक) तथा 24.12.2022 को एक पाली 10 बजे पूर्वाह्न से 12:15 बजे अपराह्न तक आयोजित की गई है। डीएम श्रीकांत शास्त्री के द्वारा जिले के 15 केंद्रों पर आयोजित परीक्षा के सफल एवं कदाचार मुक्त संचालन तथा संपादन हेतु परीक्षा कर्तव्य में प्रतिनियुक्त सभी दंडाधिकारियों महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश दिए गए। डीएम के द्वारा बैठक में उपस्थित सभी केन्द्र प्रेक्षकों, प्रखंड विकास पदाधिकारियों, अंचल अधिकारियों थानाध्यक्षों एवं केंद्र अधीक्षक सहित सभी स्तर के दंडाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि बिहार कर्मचारी चयन आयोग पटना द्वारा निर्गत निर्देश एवं परीक्षा संचालन मार्गदर्शिका का अक्षरशः अनुपालन तथा कदाचार मुक्त परीक्षा के आयोजन व संचालन में कोई कोताही नहीं बरतनी है। अव्यवस्था फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया।उनके द्वारा बैठक में उपस्थित सभी दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक परीक्षार्थी की सघन जांच (फ्रिस्किंग) प्रवेश द्वार पर करने की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। डीएम द्वारा बताया गया कि बिहार कर्मचारी चयन आयोग पटना के निर्देशानुसार परीक्षा कक्ष या हॉल में प्रत्येक बेंच पर अधिकतम 2 परीक्षार्थी ही बैठेंगे। परीक्षा कक्ष में कोई वीक्षक मोबाइल फोन लेकर नहीं आयेगें। परीक्षार्थियों को बैठने के लिए सीट प्लान की एक प्रति भवन के मुख्य द्वार पर एक प्रति सूचना पट पर लगाना सुनिश्चित किया जाएगा। परीक्षा केंद्र के मुख्य द्वार पर प्रवेश करने हेतु प्रवेश पत्र के आधार पर अनुमति दी जाएगी। परीक्षा कक्ष में महिला परीक्षार्थियों की तलाशी हेतु महिला पदाधिकारी/महिला वीक्षक/महिला पुलिस द्वारा की जाएगी। कोई भी परीक्षार्थी पेन, पेपर, पेंसिल, इरेसर आदि परीक्षा हॉल में लेकर नहीं जायेंगे। उन्हें जूता और मोजा पहनकर तथा आभूषण के साथ परीक्षा में शामिल नहीं होने देना है। जिला दंडाधिकारी श्रीकांत शास्त्री के द्वारा सभी केंद्र अधीक्षकों को निर्देश दिया गया कि केंद्र पर प्रवेश पूर्व कड़ी जांच की जाए ताकि कोई भी छात्र नकल करने वाले उपकरणों यथा मोबाइल ब्लूटूथ अन्य इलेक्ट्रॉनिक गजट तथा पुस्तक आदि साथ प्रवेश ना कर सके। किसी भी तरह की लापरवाही पाए जाने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।यह भी बताया गया कि किशनगंज जिला अंतर्गत बिहार कर्मचारी चयन आयोग पटना द्वारा संचालित परीक्षा के सफल संपादन हेतु 15 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।प्रत्येक पाली में कुल 6860 परीक्षार्थी शामिल होंगे। सभी परीक्षा केंद्रों पर स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा के संपादन हेतु परीक्षा केंद्रों पर पर्याप्त संख्या में परीक्षा केंद्रों के दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति जिला स्तर पर किए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। डीएम ने बताया कि बिहार कर्मचारी चयन आयोग परीक्षा संचालन नियमावली 2010 की कंडिका 12 के आलोक में प्रारंभिक परीक्षा पुस्तक सहित ली जाएगी। अभ्यर्थी अपने साथ तीन पुस्तक अर्थात प्रत्येक खंड के लिए एक पुस्तक ले जा सकते हैं:-१. सामान्य अध्ययन खंड २. गणित खंड ३. सामान्य विज्ञान खंड। पुस्तकों में एनसीईआरटी/बीएसईबी/आईसीएसई एवं अन्य बोर्ड के टेक्स्ट बुक ही मान्य होंगे। किसी भी विषय से संबंधित गाइड, पुस्तक की फोटो कॉपी, हस्तलिखित कागज, नोट्स, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि परीक्षा भवन में नहीं ले जा सकते हैं। परीक्षा के समय पुस्तकों का आदान-प्रदान पूर्णतया वर्जित है। साथ ही, अभ्यर्थी के पुस्तक में रोल नंबर एवं नाम के अतिरिक्त कुछ भी अलग से लिखा पाए जाने की स्थिति में अभ्यर्थी का अभ्यर्थित्व रद्द करते हुए विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।डीएम के द्वारा सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों एवं केंद्र अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि परीक्षा भवन के मुख्य द्वार पर ही गहनता पूर्वक जांच कर ली जाए।उन्होंने कहा कि परीक्षा अवधि के दौरान परीक्षा से जुड़े अधिकृत पदाधिकारियों/कर्मियों को छोड़कर किसी को भी परीक्षा केंद्र परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। डीएम के द्वारा बताया गया की परीक्षा संचालन में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी एवं कर्मी तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 2022 के स्वच्छ एवं कदाचार मुख्य संचालन के लिए जिम्मेदार होंगे। बैठक में अपर समाहर्त्ता अनुज कुमार, स्थापना उप समाहर्त्ता संदीप कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी अमिताभ कुमार गुप्ता, जिला शिक्षा पदाधिकारी सुभाष कुमार गुप्ता सहित अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी एवं सभी प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी एवं थानाध्यक्ष उपस्थित रहे।