किशनगंज : नगर पालिका निर्वाचन की तैयारियां पूर्ण करने का डीएम ने दिया निर्देश।

breaking News District Adminstration प्रमुख खबरें राज्य

किशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, जिला निर्वाचन पदाधिकारी (नगरपालिका)-सह-डीएम किशनगंज श्रीकांत शास्त्री के द्वारा प्रतिदिन विभिन्न कोषांगों की समीक्षा की जा रही है। इसी क्रम में गुरुवार की संध्या में समीक्षात्मक बैठक का आयोजन समाहरणालय स्थिति उनके कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित की गई। बैठक में बताया गया कि नगरपालिका आम निर्वाचन-2022 का आम मतदान 18 दिसम्बर 2022 को जिले के 156 मतदान केन्द्रों पर ईवीएम के माध्यम से होगा। इसके लिए नगर परिषद किशनगंज में वार्डाें की कुल संख्या 34, पार्षदों की संख्या भी 34 है। जिसमें मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षदों की संख्या 01-01 है। कुल मतदान केन्द्र 102 है। नगर पंचायत बहादुरगंज में कुल वार्ड-18 एवं कुल पार्षद 18 है। जिसमें मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षदों की संख्या 01-01 है। मतदान केन्द्रों की संख्या-35 है। नगर पंचायत, ठाकुरगंज में-कुल वार्डाें की संख्या-12 एवं पार्षदों की संख्या-12 है। जिसमें मुख्य पार्षद एवं उप मुख्य पार्षदों की संख्या 01-01 है। नगर पंचायत ठाकुरगंज में मतदान केन्द्रों की संख्या-19 है। जिले में नगर परिषद, किशनगंज एवं नगर पंचायत बहादुरगंज एवम ठाकुरगंज में कुल मतदान केन्द्रों की संख्या 156 है जबकि वार्डाें की कुल संख्या-64 है। सभी मतदान केन्द्रों पर 6 सदस्यीय मतदान अधिकारी/मतदान कर्मियों को प्रतिनियुक्त किया जा रहा है। सभी मतदान कर्मियों को ईवीएम का विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। इसके अलावे सभी मतदान केन्द्रों पर तकनीकी सहयोग कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। मतदान ईवीएम मशीन के माध्यम से सभी निर्धारित मतदान केन्द्रों पर स्वच्छ, निष्पक्ष, पारदर्शी एवं भयमुक्त वातावरण में सम्पन्न कराने के लिए सभी तैयारी लगभग पूर्ण हो गई है। सभी मतदान कर्मियों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। डीएम ने निर्देश दिया कि नगरपालिका आम निर्वाचन-2022 को स्वच्छ, निष्पक्ष, पारदर्शी और भयमुक्त वातावरण में सम्पन्न कराना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने गठित सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी और नोडल पदाधिकारी को बेहतर समन्वय करते हुए सभी तैयारी को कल तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। विदित हो कि 18 दिसंबर को मतदान का समय 07 बजे पूर्वा० से 05 बजे अप० तक निर्धारित है। नगरपालिका आम निर्वाचन 2022 के अवसर पर आदर्श आचार संहिता का प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है। फ्लाइंग स्काॅट/स्टैटिक सर्विलांस टीम के नोडल पदाधिकारी के रूप में राज्य कर सहायक आयुक्त को प्रतिनियुक्त किया गया है। प्रत्येक उड़नदस्ता टीम के साथ मजिस्ट्रेट पुलिस पदाधिकारी एवं सशस्त्र पुलिस बलों की काफी संख्या में शामिल किया गया है। मतदान के उपरांत 20 दिसम्बर को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कृषि उत्पादन एवम बाजार समिति, पुलिस लाइन स्थित मतगणना केंद्र पर सभी नगरपालिका निर्वाचन क्षेत्र की मतों की गिनती होगी। सफल, सुचारू एवं पारदर्शी तरीके से मतों की गिनती की सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित कराने हेतु जिला निर्वाचन पदाधिकारी श्रीकांत शास्त्री ने मतगणना केंद्र का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा भी लिया है। थ्री लेयर टाइट सिक्युरिटी व्यवस्था एवं सीसीटीवी की कड़ी निगरानी में मतों की गिनती 20 दिसंबर को होगी। इसके तहत विशेष पुलिस बल, जिला पुलिस बल के जवान तीन लेयर में सेंटर के भीतर एवं बाहर की सुरक्षा की व्यवस्था देखेंगे। पर्याप्त दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की तैनाती मतगणना केंद्र पर और आसपास क्षेत्र में की गई है। इसके अतिरिक्त मतगणना केन्द्र पर पेयजल, शौचालय, चिकित्सा दल, मीडिया सेंटर, यातायात व्यवस्था, नियंत्रण कक्ष, मतगणना कर्मियों के लिए प्रतिक्षालय, साफ सफाई सहित विविध व्यवस्था को लेकर डीएम ने संबंधित पदाधिकारी को निर्देश दिए है। ज्ञातव्य हो कि मतगणना केंद्र के आप-पास धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू होगी।परिसर के भीतर नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जायेगे, जिसके द्वारा सभी कार्यों की सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग की जाएगी।गौरतलब हो कि बिहार नगर पालिका आम निर्वाचन-2022 में उपयोग में लाए जाने वाले मोबाइल एप्स के संबंध में विस्तृत जानकारी मुहैया कराने के मद्देनजर प्रशिक्षण कोषांग के तत्वाधान में सभी मतदान पदाधिकारी/कर्मी को प्रशिक्षित किया जा चुका है। बताया गया कि बिहार नगर पालिका आम निर्वाचन- 2022 में पीठासीन पदाधिकारी, पीसीसीपी एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट के लिए महत्वपूर्ण एप्स उपयोग में लाए जाएंगे। उपयुक्त तीनों एप्स के बारे में सभी तकनीकी जानकारी जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी पदाधिकारी, आईटी मैनेजर के द्वारा उपस्थित पदाधिकारियों को विस्तृत रूप से दी गई। विशेषकर उपयोग में लाए जाने वाले एप्स को डाउनलोडिंग करना, निर्वाचन के समय उसका बेहतर उपयोग कैसे किया जाएगा इत्यादि के बारे में जानकारी दी गई। साथ ही बताया गया कि इस बार बोगस/फर्जी मतदान को रोकने के लिए एफआरएस (फेस रिकॉग्निशन सिस्टम) का उपयोग किया जाएगा। इसके बारे में भी विस्तृत जानकारी प्रशिक्षण में दिया दी गई। बैठक में जिलाधिकारी श्रीकांत शास्त्री ने उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि सभी पदाधिकारी, सभी कोषांगों के वरीय/नोडल पदाधिकारी अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी गंभीरता के साथ करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी आरओ व्यक्तिगत रूप से अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत मतदान केंद्रों का फिजीकल वेरिफिकेशन कर प्रतिवेदन करना सुनिश्चित करें। विशेषकर मतदान केंद्रों पर सभी बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता यथा-विद्युत, फर्नीचर, पेयजल, चार्जर सॉकेट, जनरेटर की उपलब्धता सुनिश्चित कर लेंगे। सभी मास्टर ट्रेनर की सुव्यवस्थित टैगिंग करना सुनिश्चित करेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी ने स्पष्ट निर्देश दिया कि सभी पदाधिकारी बिल्कुल निर्वाचन पर फोकस होकर कार्य करें। निर्वाचन कार्य में किसी भी तरह की लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। स्वच्छ, पारदर्शी, भयमुक्त, शांतिपूर्ण निर्वाचन के मद्देनजर सभी वरीय/नोडल पदाधिकारी, सभी निर्वाची पदाधिकारी, सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारी, सभी प्रतिनियुक्त मतदान कर्मी अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी गंभीरता से करेंगे। गौरतलब हो कि संबंधित निर्वाचन क्षेत्र के लिए मतदान दिवस पर दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत मतदान केंद्र के 100 मीटर की परिधि में निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। बूथ के आसपास 5 या 5 से अधिक व्यक्ति एक साथ एकत्रित नहीं हो सकते है। निर्वाचन समाप्ति के 48 घंटे पूर्व प्रचार प्रसार, जुलूस पर पाबंदी लगा दी गई है। 16 दिसंबर के संध्या 5 बजे अभ्यर्थियों के प्रचार प्रसार बंद हो जाएंगे। एमएमएस, चलचित्र आदि सभी तरह से निर्वाचन संबंधी बात जनता के बीच प्रदर्शन नहीं कर सकेंगे।