किशनगंज जिला के टेढ़ागाछ प्रखंड के खनियाबाद पंचायत का बैरिया गांव भारत-नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्र पर स्थित है।॥

breaking News राज्य

त्रिलोकी नाथ प्रसाद -भौगोलिक स्थिति के कारण इस गांव में सामान्य ग्रामीण समस्याओं के अलावा भी समस्याएं हैं। वैसे तो समस्त भारत में कुछ दूरी तय करने पर भाषा और संस्कृति में बदलाव देखा जा सकता है। किंतु सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण इस गांव की भाषा, रहन-सहन और संस्कृति सीमा पार देश नेपाल से बहुत प्रभावित है।

इन्हीं भाषाई और सांस्कृतिक अंतर को समझने के लिए भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा ‘बॉर्डर विलेज टूर’ कार्यक्रम के तहत ऐसे अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे गांवों में चौपाल का अयोजन किया जा रहा है। खानियाबाद पंचायत के बैरिया हाट में आयोजित इस चौपाल में ग्रामीणों ने भारत-नेपाल के बीच साधारण ग्रामीणों को सामानों और अनाज के आसान आवागमन के लिए कस्टम कार्यालय की जरूरत पर बल दिया। इसके अलावा स्थानीय ग्रामीणों ने नल-जल और ग्रामीण सड़कों के निर्माण की लचर स्थिति से भी अवगत कराया।

इसके अलावा भारतीय जनता युवा मोर्चा के ‘बॉर्डर विलेज टूर’ कार्यक्रम के तहत किशनगंज जिला के खनियाबाद पंचायत के फतेहपुर गांव में स्थित भारत-नेपाल सीमा का जायजा लिया और स्थानीय ग्रामीणों से बातचीत की।

इस चौपाल कार्यक्रम में भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री प्रवीण कुमार जी,भाजयुमो किशनगंज जिला अध्यक्ष अंकित कौशिक जी, जिला महामंत्री एवं पूर्व प्रत्याशी लखन पंडित जी, भाजयुमो किशनगंज जिला महामंत्री राकेश गुप्ता जी, जिला उपाध्यक्ष साहिल कुमार जी, पूर्व सैनिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक हरि किशोर जी, टेढ़ागाछ मंडल के अध्यक्ष रवि दास जी, भाजयुमो मंडल अध्यक्ष राजीव जी, किशनगंज लोक सभा विस्तारक रुपेश जी, नीति एवं शोध विभाग की प्रदेश सह संयोजिका सिमरन राय जी और बड़ी संख्या में स्थानीय ग्रामीण उपस्थित थे।