Uncategorized

किशनगंज ब्लॉक चौक डाइवर्सन पर छोटी गाड़ी मारूती सेलेरियो पर ट्रक के गिरने से मारुती सेलेरियो के परखचे उड़े…

बाढ़ आए पांच महीने होने को है,फिर भी अभी तक सड़क की जगह ना तो पुल बन सका है और न ही सड़क।डायवर्शन की स्थिति ऐसी है कि उस पर चलना जान हथेली पर लेकर चलने जैसा है।क्या हमारे जनप्रतिनिधि हजरात और किशनगंज जिला प्रशासन के लोग किसी बड़े हादसे के बाद ही नींद से बेदार होंगे ?

किशनगंज ब्लाक चौक के क़रीब डाइव॔सन की स्थिति आखिर कबतक ऐसी रहेगी।आए दिन कोई न कोई घटना देखने को मिलती है।क्या किसी बड़े हादसे के इंतज़ार में बैठे हैं हम ? ज़िला के करीब 80 प्रतिशत क्षेत्र को किशनगंज ज़िला हेड क्वाटर से जोड़ता है यह डाइवर्शन,इलाके के सभी नेता-अभिनेता,पक्ष-विपक्ष,क्रांतिकारी-आन्दोलनकारी,सोशल एक्टिविस्ट एंव वाट्सअप-फेसबुक यूज़र मरीज डाक्टर मिडिया और प्रशासन के लोग इस डायवर्शन से होकर रोज़ गुजरते हैं,फिर भी कोई इस बाबत आवाज़ उठाता क्यों नहीं है ? बाढ़ आए पांच महीने होने को है,फिर भी अभी तक सड़क की जगह ना तो पुल बन सका है और न ही सड़क।डायवर्शन की स्थिति ऐसी है कि उस पर चलना जान हथेली पर लेकर चलने जैसा है।क्या हमारे जनप्रतिनिधि हजरात और किशनगंज जिला प्रशासन के लोग किसी बड़े हादसे के बाद ही नींद से बेदार होंगे ?

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

नीतीश के महिला अधिकारी को कुपोषण का मतलब नही पता:-डा० जावेद

किशनगंज बाढ़ रहात राशि घोटाला करने वालो पर विभाग कारवाई क्यों नहीं कर रही है….मीडिया के और जिला प्रसाशन के दबाब में राहत राशि तो वापस कर दिया पर सवाल यहाँ यह उठ रहा है की अगर मीडिया में यह खबर नहीं आता तो सायद ही राशि वापस किया जाता….जिन-जिन महानुभावों ने जालसाजी करके (जान-बूझकर) बाढ़ रहात राशि ली है।उन लोगो पर विभाग को जालसाजी का मुकदमा करना चाहिए ताकि आगे से कोई भी जालसाज इस तरह से गरीबो का हक़ नहीं मार सके… सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार पूरा राशि वापस नहीं कर कुछ ही राशि जमा किया गया है।

बाढ़ राहत से जुड़ी जनरल रिलीफ (जीआर) की राशि के वितरण में डीसीएलआर के सरकारी वाहन चालक के परिवार के सभी सदस्यों को मिली जीआर राशि, मामला का पर्दाफांस,जांच जारी है…

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button