अररिया : गोली मारकर लूट के प्रयास करने वाले गिरोह का अररिया जिला पुलिस ने किया खुलासा, आठ गिरफ्तार।

breaking News District Adminstration अपराध ताजा खबर प्रमुख खबरें राज्य

अररिया पुलिस कप्तान अशोक कुमार सिंह के मार्गदर्शन में अररिया पुलिस की महत्वपूर्ण उपलब्धि

अररिया/धर्मेन्द्र सिंह, फारबिसगंज थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े दो लूटकांड सहित भरगामा थाना क्षेत्र में दो दिन पहले दवा व्यवसायी को गोली मारकर लूट के प्रयास करने वाले गिरोह का अररिया जिला पुलिस ने खुलासा किया है। मामले में पुलिस ने गिरोह के 08 सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जिसमे से 06 सदस्य सुपौल जिला के हैं। जबकि गिरफ्तार 08 में से 02 अररिया जिला के 01 नरपतगंज और 01 भरगामा के हैं। शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए फरबिसगंज थाना में पुलिस कप्तान अशोक कुमार सिंह ने यह जानकारी दी।गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने 12 मोबाइल, 30 किलोग्राम गांजा, तीन अवैध हथियार, 06 कारतूस, लूट का 1 लाख 81 हजार 50 रुपया, लूट की राशि से खरीदी गई हीरो सुपर स्पलेंडर मोटरसाइकिल, लूट की राशि से खरीदे गये जेवरात, घटना के समय अपराधियों द्वारा पहना गया जूता, कपड़ा, टोपी और अपाची मोटरसाइकिल, दो चार पहिया वाहन बरामद किया गया है। जिला पुलिस कप्तान अशोक कुमार सिंह ने बताया कि 9 मई को फारबिसगंज जुम्मन चौक के पास हथियार का भय दिखाकर 9 लाख रुपये को दिनदहाड़े लूट लिया गया था। मामले में फारबिसगंज थाना में कांड संख्या-498/22 दिनांक-09.05.2022 दर्ज किया गया था। साथ ही 13 जून को फारबिसगंज कृषि उत्पादन बाजार समिति के पास से अज्ञात अपराधियों के द्वारा हथियार का भय दिखाकर एक व्यवसायी से 4 लाख रुपया लूटपाट किया गया था और उस मामले में फारबिसगंज थाना में कांड संख्या-614/22 दिनांक-13.06.2022 को दर्ज किया गया था। दोनों लूटकांड के मामले को लेकर फारबिसगंज एसडीपीओ रामपुकार सिंह की अगुवाई में एक विशेष टीम का गठन किया गया था। जिसमे फारबिसगंज थानाध्यक्ष निर्मल कुमार यादवेन्दु, जोगबनी थानाध्यक्ष आफताब अहमद, बथनाहा ओपी अध्यक्ष नन्दकिशोर नंदन, रानीगंज थानाध्यक्ष कौशल कुमार, भरगामा थानाध्यक्ष आदित्य कुमार शामिल थे। विशेष टीम ने वैज्ञानिक और तकनिकी अनुसंधान का सहारा लेते हुए गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी की।एसपी श्री सिंह ने बताया कि दो दिन पहले भरगामा के खजूरी से लौटने के क्रम में दवा व्यवसायी से लूटपाट के प्रयास में गोली चलाकर घायल कर देने के पीछे भी यही गिरोह शामिल था। गिरोह के द्वारा अररिया, सुपौल, पूर्णिया समेत सीमावर्ती जिलों में आपराधिक वारदातों को अंजाम देते हैं। गिरोह के सभी सदस्य आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं और पहले भी जेल जा चुके हैं। गिरफ्तार अपराधियों में सुपौल जिला के विवेक कुमार उर्फ विकास कुमार, श्याम सुंदर कुमार यादव उर्फ बौआ, अमित कुमार, पिंटू कुमार, ख़िलानन्द कुमार उर्फ अभीषेक कुमार, मुकेश कुमार मेहता हैं, वही अररिया के नरपतगंज के खैराचंदा के मनीष कुमार और भरगामा के भटगांव के अजय यादव हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.