पटना : ब्राह्मणों को उचित सम्मान दिलाने के लिए तथा उनकी खोई हुई गरिमा तथा गौरव को वापस दिलाने में यह महाकुंभ मील का पत्थर साबित होगा:-ब्रजेश मिश्रा

breaking News ताजा खबर प्रमुख खबरें राज्य

20 सूत्री मांगों को लेकर ब्राह्मण समाज हो रहे है एकजुट।1001 ब्राह्मणों द्वारा सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा तथा ब्राह्मणों के राजनीतिक, सामाजिक योगदान पर वृहद परिचर्चा होगी।

12 अप्रैल 2020 को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में देशभर के ब्राह्मणों का मिलन समारोह हो रहा आयोजन..पटना/संवाददाता, चाणक्य विकास मोर्चा के बैनर तले 12 जनवरी 2020 को राजधानी से सटे बिहटा के पांडेयचक गांव में एक विशाल बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें बिहटा क्षेत्र के सैंकड़ों ब्राम्हणों को 12 अप्रैल 2020 को पटना के गांधी मैदान में आहुत ब्राम्हण महाकुंभ में आमंत्रित किया गया।कार्यक्रम संयोजक नवनीत दुबे ने बताया कि 12 अप्रैल 2020 को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में देशभर के ब्राह्मणों का मिलन समारोह हो रहा है, जिसमें 1001 ब्राह्मणों द्वारा सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा तथा ब्राह्मणों के राजनीतिक, सामाजिक योगदान पर वृहद परिचर्चा होगी।चाणक्य विकास मोर्चा के संयोजक ब्रजेश मिश्रा ने कहा की महाकुंभ में अपने 20 सूत्री मांगों को लेकर ब्राह्मण समाज एकजुट हो रहे हैं।जिसमें ब्राह्मणों को उचित सम्मान दिलाने के लिए तथा उनकी खोई हुई गरिमा तथा गौरव को वापस दिलाने में यह महाकुंभ मील का पत्थर साबित होगा।इस अवसर पर युवा रजनीश तिवारी ने अपने विचार रखते हुए कहा कि सबसे ज्यादा युवा ब्राह्मणों को महाकुंभ में जुटना चाहिए, क्योंकि उनके लिए अपने अतीत, वेद पुराण, धर्मग्रन्थों और अपने पूर्वजों के त्याग बलिदान का जानना जरूरी है।रजनीश ने कहा कि मौजूदा समय में जिस तरह से हमारा ब्राम्हण समाज राजनीतिक, सामाजिक, न्यायिक एवं अन्य क्षेत्रों में उपेक्षा का शिकार है।उस प्रतिष्ठा को वापस दिलाने के लिए युवा इस महाकुंभ को सफल बनाने को अपनी मुहिम से जोड़ें।इस कार्यक्रम के लिए चाणक्य विकास मोर्चा सहित अनेकों संगठन युद्ध स्तर पर जुटे हुए है।आज के कार्यक्रम में उपस्थित ब्राह्मणों ने अपने अपने विचार साझा किए। अधिकांश अपस्थित ब्राह्मणों ने कहा कि सदियों से ब्राम्हण उपेक्षा के शिकार होते आए हैं।जबकि खुद के लिए न सोंच कर हमेशा दूसरों की झोली भरने वाले ब्राम्हणों ने परहित के लिए अपने ज्ञान मंत्र और विद्वता न्योछावर किया है।उसके बाद भी योजनाबद्ध तरीके से विप्र समाज को हेय दृष्टि से देखने और परेशान करने का प्रयास किया जा रहा है।इस तरह की शाजिश और बदनाम करना अब बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।इस लिए यह जरूरी है कि बिना किसी भेदभाव के आने वाली पीढ़ी को बेहतर और सम्माजनक स्थान दिलाने के लिए स्वतः 12 अप्रैल को गांधी मैदान में होने वाले ब्राह्मण महाकुंभ में सपरिवार पधारें।इस महाकुंभ से ही वो रास्ता निकलेगा जिससे आने वाले समय मे ब्राम्हणों को हर संभव मदद करने का राह बनेगा।वक्त आ गया है इसी सोच के साथ ब्राह्मण समाज अपनी शक्ति प्रदर्शन इस महाकुंभ के माध्यम से करे।मौके पर उपस्थित ब्रजेश मिश्रा ने युवाओं को पूरे जोश के साथ आयोजन में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया।आज के इस आयोजन में नवनीत दुबे, रजनीश तिवारी, कमल किशोर त्रिपाठी, पाठक, सौरभ तिवारी, जितेंद्र मिश्रा, नवल पाण्डेय, आनंद मिश्रा, विष्णु दत्त पाठक, ललन पांडेय, मंटू पांडेय, श्रीकांत पाण्डेय, प्रवीण तिवारी, मिक्की बाबा, कर्नल बाबा, पवन तिवारी, कुमुद मिश्रा, जयकांत चौबे, निर्मल मिश्रा सहित अन्य सैकड़ों ब्राह्मण समाज के लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *