किशनगंज : विधायक ने दबंगई दिखाते हुए एक भूखंड पर खड़ी दीवार काे बाइक सवार दर्जनाें समर्थकाें के साथ आकर किया ध्वस्त..

breaking News अपराध ताजा खबर प्रमुख खबरें राज्य

घटनास्थल पर पहुंचे एसडीओ, एसडीपीओ, सार्जेंट मेजर, बीडीओ, सीओ और थानाध्यक्षकिशनगंज/धर्मेन्द्र सिंह, किशनगंज के सुभाषपल्ली चाैक पर दिनांक-29.10.2019 अफरा-तफरी मच गई, जब बंगाल के एक विधायक ने दबंगई दिखाते हुए एक भूखंड पर खड़ी दीवार काे बाइक सवार दर्जनाें समर्थकाें के साथ आकर ध्वस्त कर दिया।बंगाल के चाकुलिया विधायक अली इमरान रम्ज उर्फ विक्टर अपने दर्जनों बाइक सवार समर्थकों के साथ रैली की शक्ल में यहां पहुंचे और भूखंड के सामने की दीवार काे समर्थकों ने देखते ही देखते तोड़ डाली।इस बीच आनन फानन में प्लाॅट पर मंच सजा और पलक झपकते ही ऑल इंडिया फारवार्ड ब्लॉक का यहां दफ्तर खुल गया।

इस दौरान विधायक ने बिहार के सुशासन और केन्द्र की सरकार पर भी चुटकी ली।दूसरी ओर विधायक की इस कार्रवाई से थोड़ी देर के लिए यहां अफरा-तफरी का माहौल हो गया।सूचना मिलते ही एसडीएम शाहनवाज अहमद नियाजी, एसडीपीओ डॉ. अखिलेश कुमार, थानाध्यक्ष राजेश कुमार तिवारी मौके पर पहुंचे, और बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गई।

एसडीओ ने विधायक की इस कार्रवाई को गलत बताते हुए कहा कि यहां रुल ऑफ लॉ है।विधायक को बता दिया गया है कि शहर के आबो हवा को आप खराब करने की कोशिश करेंगे तो इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।बंगाल का कल्चर यहां नहीं चलेगा।दोनों पक्षों को गुरुवार को यानी दिनांक-31.10.2019 को बुलाया गया है।इसमें जिसकी गलती होगी उसपर कार्रवाई होगी।एसडीएम के अनुसार विधायक को भविष्य में ऐसा नहीं करने का निर्देश दिया गया है।विधायक ने दावा किया है कि जमीन उनकी है और वे अपनी जमीन पर कार्यक्रम कर रहे हैं।आपको बताते चलें कि घटना के बाद चाकुलिया विधायक अली इमरान रम्ज ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तमाम कागजातों की जांच के बाद उन्होंने जमीन चुलाई सिंह से खरीदी।सरकार को रेवेन्यू दिया और रजिस्ट्री कराई।इस जमीन पर कुछ लोगों ने रात के अंधेरे में सामने दीवार दे दी।यहां के कार्यकर्ताओं ने इसकी सूचना मुझे दी तो मैंने एसपी को इसकी लिखित सूचना दी।इस बीच विराेधी पक्षाें ने मेरी जमीन पर बाउंड्री दे दी, जिस पर पुलिस ने काेई कार्रवाई नहीं की।मुझे प्रशासन से कोई मदद नहीं मिली इसलिए मुझे यह करना पड़ा।यह पूछे जाने पर कि आपने कानून का सहारा क्यों नहीं लिया विधायक ने कहा कि मजबूरी है।मैं अपनी जमीन पर अपनी पार्टी का कार्यालय खोल रहा हूं, जिसका मैं खुद उदघाटन कर रहा हूं और इसका मुझे संवैधानिक हक है।दूसरे पक्ष से मैं अपील करता हूं उसके पास अगर जमीन के कागजात हैं ताे आकर दिखाएं मैं स्वयं जमीन उन्हें दे दूंगा।उनके पास कोई कागज ही नहीं है।मेरी जमीन पर ताकत दिखाकर कोई हड़प लेगा मैं इतना कमजोर नहीं हूं।वहीं दूसरी ओर जमीन पर दावेदारी करनेवाले दूसरे पक्ष के तपन दास ने कहा उन्होंने ही दीवार दिया था एवं आज के घटनाक्रम पर भी उन्होंने थाने में लिखित आवेदन दिया है।तपन दास ने अपने आवेदन में विधायक पर अपने सहयोगियों के साथ आज की घटना काे अंजाम देने, तपन दास के कर्मचारी के साथ मारपीट करने, जमीन बेचने, सौहार्द्र भड़काने का प्रयास करने या फिर रंगदारी देने जैसे कई आरोप लगाए हैं।यह भी कहा है वे दोनों पांव से लाचार हैं और घटना स्थल पर नहीं जा पाए।दूसरी ओर विधायक द्वारा बार-बार जिस शाहजहां का नाम विवाद बढ़ाने में लिया जा रहा था वे फिलहाल हम पार्टी के जिलाध्यक्ष हैं।उनसे पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जमीन मालिक तपन दास का साथ दे रहे हैं इसलिए विधायक नाहक उनका नाम घसीट रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *