नशाबंदी का अलख जगाने स्कूल पहुंचे डीएम और एसपी…

breaking News अपराध देश राज्य

किशनगंज डीएम और एसपी ने पूर्ण शराब बंदी और नशाबंदी के लिए जागरूकता फ़ैलाने के कर्म में स्कूल के बच्चों के बीच उनसे संवाद किया उनकी समस्याएँ सुनी त्वरित कारवाई का भरोसा दिया। और साथ ही पर्चे बाँट कर सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना शराब बंदी को घर घर तक ले जाने की अपील भी की पर्चे के माध्यम से शराब और तमाम तरह के नशे की बुराईओं और कानून के कड़े प्रावधानों का जिक्र किया गया है। इसके साथ महिलाओं की रक्षा में तैनात स्पेशल पिंक पेट्रोलिंग के बारे में भी बतलाया गया बच्चियों से अपील की गयी की वे अपने आप को कभी भी असुरक्षित ना समझे किशनगंज पुलिस उनके साथ हमेशा खड़ी है। आप को मालुम हो की 15 लोगो को पिंक

पेट्रोलिंग ने छेड़खानी करते दबोचा था नगर परिषद क्षेत्र स्थित एसडीपीओ आवास के पीछे स्थित बुद्धा शांति पार्क में गुरूवार को पुलिस ने छापेमारी की।छापेमारी में नौ लड़की एवं छह लड़के को पुलिस ने हिरासत में लिया।हिरासत में लिए गए सभी युवक व युवती अन्य जिले प.बंगाल के निवासी हैं।छापेमारी का नेतृत्व कर रहे एसडीपीओ डॉ. अखिलेश कुमार ने छापेमारी की पुष्टि की है।मजनूओं के खिलाफ अभियान चला रही किशनगंज की पिंक पेट्रोलिंग दस्ता ने आपत्तिजनक अवस्था में पाए गए 15 युवक-युवतियों को हिरासत में लेकर महिला थाना लाया गया।जिसमें अधिकांश लड़कियां नाबालिग थी जो पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल से यहां आकर अपने प्रेमी संग घूम रही थी।हालांकि बाद में पुलिस ने सबके अभिभावकों को जानकारी देते हुए बांड भरकर थाने से मुक्त कर दिया।गौर करे तो इनका मुख्य मकसद बच्चों को नशा से दूर रहने की सीख देना था।इस दौरान दोनों अधिकारियों ने बच्चों के साथ न सिर्फ सीधा संवाद किया बल्कि उन्हें शराब और नशीले पदार्थो से दूर रहने की भी नसीहत दी।खासकर पूर्ण शराबबंदी को सफल बनाने में बच्चों की भूमिका पर भी चर्चा किए।इस दौरान दसवीं वर्ग की एक छात्रा मंच के पास गई और डीएम व एसपी से सिर्फ इतना ही कह पाई कि दहेज के लिए पापा मां को प्रताड़ित करते हैं,जिसके बाद वह फफक-फफक कर रो पड़ी।एसपी ने महिला पुलिस अधिकारी को अलग से कमरे में ले जाकर छात्रा से बात करने के लिए कहा।छात्रा रीमा कुमार कामती ने कहा कि उपद्रवी लड़के विद्यालय के गेट पर खड़े होकर फब्तियां कसते है।एसपी ने थानाध्यक्ष को सात दिन के अंदर ऐसे तत्वों से निपटने का निर्देश दिया।पुलिस कप्तान कुमार आशीष ने विद्यालय की छात्राओं से कहा कि मुखर होकर नो कहना सीखें, मनचलों का मंसूबा टूट जाएगा।पुलिस द्वारा पिंक पेट्रोलिंग गाड़ी चलायी गयी है जो सिर्फ फब्तियां कसने वाले लफंगों पर नजर रखती है।मुसीबत पड़ने या फिर खतरे की आंशका भांपकर पुलिस पिंक पेट्रोलिंग के नम्बर 844428162 पर डायल करें।पुलिस तुरंत सेवा में हाजिर होगी।गौर करे तो पुलिस प्रशासन के साथ समाज के लोगों को जागरूक होने की जरूरत है।घटनाओं के प्रति समाज के लोगों संवेदनशील होने की जरूरत है।अपराध नियंत्रण की जिम्मेवारी सिर्फ पुलिस प्रशासन की ही नहीं होती बल्कि समाज के प्रबुद्ध लोगों का भी दायित्व है कि वारदातों के प्रति जागरूक रहें।

वही जिलाधिकारी महेन्द्र कुमार ने छात्र-छात्राओं से अपील की कि अच्छी शिक्षा प्राप्त कर स्वस्थ व स्वच्छ समाज व राष्ट्र निर्माण के गवाह बनें।राज्य सरकार अब ऊंची शिक्षा के लिए भी कई योजनाओं का क्रियान्वयन किया है।इन योजनाओं का लाभ लें।स्टूडेन्ट क्रेडिट कार्ड, कौशल युवा विकास जैसी योजनाएं सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है।छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए डीएम ने कहा कि प्रशासन अवाम और सरकार के बीच कड़ी का कार्य करती है।आपको बताते चले की शहर के वार्ड नम्बर 05 स्थित माधवनगर भी पुलिस कप्तान श्री कुमार पहुंचे।वहां मौजूद महादलित समाज को नशा मुक्ति अभियान में प्रशासन का साथ देने का अपील किया।नशा से होने वाले नुकसान को विस्तार से बतलाया गया।कार्यक्रम में एसडीपीओ डॉ.अखिलेश कुमार, पुलिस निरीक्षक प्रमोद राय, थानाध्यक्ष आफताब अहमद, महिला थानाध्यक्ष महाश्वेता कुमारी सहित अन्य मौजूद थे। 

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *