www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS
आइये जानते एक साधारण परिवार के ips अधिकारी की सफलता की कहानी…

आइये जानते एक साधारण परिवार के ips अधिकारी की सफलता की कहानी…

किशनगंज यह कहानी एक बहुत ही साधारण परिवार के बेटे की है जमुई के एक छोटे से गांव सिकंदरा (शायद आपने नाम सुना होगा) में पले बढे इस आईपीएस अधिकारी की सफलता More »

पर्यवेक्षिका स्व. पल्लवी के दहेज प्रताड़ना मामला में उसके पति को कोर्ट 3 साल का सजा सुनाया और 5 हजार रुपए का जुर्माना…

पर्यवेक्षिका स्व. पल्लवी के दहेज प्रताड़ना मामला में उसके पति को कोर्ट 3 साल का सजा सुनाया और 5 हजार रुपए का जुर्माना…

किशनगंज-पूर्व पर्यवेक्षिका ठाकुरगंज स्व० पल्लवी कुमारी के पति को 498A से सम्बंधित केस सं०-C1492 में मिली सजा,कोर्ट ने 3 साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना लगाया है।जुर्मना नहीं देने पर More »

दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका…

दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका…

बिहार में सरकार बेटी-पढ़ाव बेटी बचाव के अभियान पर जोड़ दे रही है।तो दूसरी तरफ दरिंदे बेटियों का जिना मुहाल कर दिया है।मुजफ्फरपुर में आए दिन लगातार लड़कियों की हत्याएं बढ़ती ही More »

प्रेम प्रसंग मॆ युवक और युवती को जबरन पिलाया ज़हर, भीड़ बना रहा तमाशबीन, प्रशासन है बेखबर, सोशल मीडिया पर हुआ वीडियो वायरल…

प्रेम प्रसंग मॆ युवक और युवती को जबरन पिलाया ज़हर, भीड़ बना रहा तमाशबीन, प्रशासन है बेखबर, सोशल मीडिया पर हुआ वीडियो वायरल…

मानवता भी शर्मसार हो गया जब यह मामला प्रकाश मॆ आया।किस तरह दो प्रेमियों को ज़बरदस्ती ज़हर पिलाया गया।कोइ इस मौत परोसने वालो कॊ रोकने और टोकने वाला भी नही मिला।पुलिस या More »

संपादक को बिना वारंट गिरफ्तार करने रांची पहुँच गई नालंदा पुलिस…

संपादक को बिना वारंट गिरफ्तार करने रांची पहुँच गई नालंदा पुलिस…

बिहार के मुखिया राज्य में कानून एवं न्याय की शासन की दुहाई देते हैं लेकिन उनके ही जिले नालंदा की पुलिस नियम एवं कानून की धज्जी उड़ाने और अपनी भद्द पिटवाने झारखंड More »

 

मोतीपुर मॆ टूटा नहर का तटबंध, सैकड़ो घरो मॆ घुसा पानी, डीएम है गम्भीर, आईजी ने लिया जानकारी…

मुजफ्फरपुर मोतीपुर के इलाके के पनाछपरा गाँव के पास तिरहुत मुख्य करनाल नहर का देर रात्रि मॆ लम्बी दूरी तक तटबंध टूट गये।पल भर मॆ नहर का पानी तीन गाँव मॆ तेजी से फैल गया।जिस की जानकारी मिलते ही ग्रमीणो का होश उर गये।ग्रमीणो ने आनन फानन मॆ पानी कॊ बहाव को दिशा बदलने के लिये मुख्य नहर से जुड़े छोटे नहर कि पुलिया के पास से बाँध ग्रमीणो की टोली ने काट दीया।जिससे पानी अधिकाँश तौर पर अंसारी टोला होते हुये डंडा नदी मॆ प्रवेश करने लगा।मगर अधिक पानी होने से तटबंध टूटने के आस पास कई गाँव के घरो मॆ पानी प्रवेश कर गया।जिससे ग्रमीणो का जीना दुश्वार हो गया है।कई घरो के स्वामी घर छोड़ने पर विवश हो गये है।ग्रमीणो ने देर रात्रि 

मॆ ही जिलाधिकारी मो० सौहौल को फोन पर सूचित किया इस मामले कॊ गंभीरतापूर्वक लेते हुए डीएम ने उक्त स्थान पर प्रखंड विकास पदाधिकरी, सीओ, एडीएम, गंडक प्रोजेक्ट के पदाधिकारी और अधिकारी को राहत और बचाव कार्य के लिये भेजा।डीएम के सख्त निर्देश पर टूटे तटबंध की मरम्मत शुरु हुये।वहा ग्रमीणो मॆ काफी आक्रोश पाया गया।ग्रामीणों का आरोप था कि तटबंध साजिश कर पोखर खुदाई से तोड़ा गया है।जो ग्रामीणों के लिये विनाश का कारण बना है।काफी फसल क्षति हुये है।और घरो से भागना पड़ा है।यह तनाव और आक्रोश देख कर जानकारी मिलते ही डीएम ने आवश्यक 

करवाई का आदेश जारी कर अपने स्तर से भड़क रहे आक्रोश कॊ शांत कराया।डीएम के कुशलता से बड़ा आक्रोश का परिणाम काफी नरम दिखा और पल भर मॆ आक्रोश शांत हो गये।जिलाधिकारी ने तटबंध टूटने के कारण की जाँच का आदेश उच्च अधिकारी कि टीम गठित कर दिया है।वही हर सम्भव प्रयास कर यथाशीघ्र तटबंध ठीक करने का आदेश जारी किये है।वही तत्काल भोजन का प्रबंध कराया गया है।अजय कुमार समेत अन्य कई ने भोजन के प्रबंध और बच्चो के लिये अल्पाहार का प्रबंध कराया है।इस तटबंध टूटने से यादव टोला,अंसारी टोला,कुर्मी टोला के लगभग सैकड़ो घर और परिवार प्रभावित हुये है।जिन परिवारों की सूची तैयार कर राहत बचाव मॆ करवाई जल्द किये जाने का आदेश डीएम ने जारी किये है।

एसएसपी ने जारी किया कई फरमान,जनाक्रोश भड़काने वालों की खैर नहीँ गुप्त ढ़ंग से तैयार हो रहे सूची।

मुजफ्फरपुर एसएसपी हरप्रीत कौर ने इस भीषण परिस्तिथियों मॆ कोई हताहत नहीँ हो और कोई विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन नहीँ हो इस पर कड़ी करवाई और नजर रखने का आदेश मोतीपुर पुलिस को दिया है।वही जनाक्रोश भड़काने वालों कि भी सूची गुप्त तौर से तैयार किया जा रहा है।जानकारी के अनुसार वहा तीन कथित नेता राजनीति शुरु कर गाँव के दो लोगों से तटबंध टूटने मॆ दोषी होना बता कर मोटी रकम उगाही किया है।जिससे गाँव दो भाग मॆ बट गया है।इस कठिन परिस्तिथियों मॆ भी अपनी रोटी सेंकने वाले अपना उल्लू सीधा करने वाले कूछ कथित नेता महौल बिगाड़ना चाह रहे है।घटना की जानकारी पल पल तिरहुत के पुलिस महानिरीक्षक श्री सुनील कुमार लेते रहे ताकि कोई हताहत ना हो,कई दिशा निर्देश आईजी ने

पुलिस पदाधिकारी कॊ राहत और बचाव के सम्बन्ध मॆ दिये है।यह मामला काफी संगीन होने पर पुलिस की ग्स्ती बढ़ाया गये है।और अन्य जगह भी तटबंध पर नजर रखा गया है।अगर पुर्व से गंडक प्रोजेक्ट विभाग सक्रिय होता तो ऐसा नौबत नहीँ आता और आज ग्रामीणों के साथ यह समस्या उत्पन नहीँ होते।कम से कम पाना छपरा महिमा गुपनाथ पुर पंचायत में 200 से अधिक घरो मे पानी प्रवेश कर गये है।ग्रामीणों का हाल बुरा हो गये है।बेहाल हुये ग्रामीण अपनी दुःख को रोते हुये बया कर रहे है।उनका चूल्हा चौकी बंद है।घर छोरने पर ग्रामीण विवश हो कई ग्रामीण पलायन हो रहे है।जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर मो० सोहेल ने मामले कॊ गंभीरता से लेकर राहत सामग्री वितरण करने का आदेश दिया।एसएसपी हरप्रीत कौर पुलिस बल को तैनात किया है।

आखिर क्या है मामला।

करीब रात्रि 2 बजे गावं से गुजरने वाली तिरहुत बड़ा करनाल नहर जिसमे बाल्मीकि नगर से पानाछपरा गाँव होते हुये कई जिलो में पानी आ जाता है।उस नहर का तटबंध टूट जाने का संवाद तेजी से फैला जिससे लोगो में चीख पुकार मच गए और लोग अपना समान बच्चो को लेकर इधर उधर सुरक्षित जगह भागने लगे।गाँव मॆ ग्रमीणो कॊ डीएम के आदेश पर पुलिस की टीम सुरक्षित जगह पर पहुँचाया।देखते ही देखते पानी गावं में फ़ैल गया,ऐसा जानकारी प्राप्त हो रहा है की नहर का बाँध के पास पोखर की खुदाई किए जाने से जलधारा का दबाब बढ़ने से बाँध कमजोर पड़ने से टूट गया या किसी शरारती तत्व ने रात्रि का फायदा उठाया और तटबंध काट दिया।जो जाँच का विषय है।बांध तोरा गया है या टूट गया है इसकी जाँच अधिकारी कर रहे है।घटनास्थल पर डीएम के आदेश पर एडीएम मुजफ्फरपुर,लघु सिचाई विभाग का जूनियर इंजिनियर, सीओ,बीडीओ,एसडीओ तटबंध को ठीक करने में लग हुए है।

पानी मॆ रहते हुये भी पानी पीने पर आफत पड़ा महामारी फैलाने का आसार।

गाँव मॆ पानी पीने पर भी आफत आ गये है।क्योंकि कई चंपाकल पानी मॆ डूब गये है।जलजमाव के कारण गाँव मॆ महामारी फैलाने का खतरा मंडराने लगा है।लगभग दो दिनो मॆ तटबंध पुरी तरह दुरुस्त होने की संभवाना है।वही गाँव से पानी का जमाव खत्म होने मॆ दो सप्ताह लग सकता है।जिलाधिकारी मो० सोहेल इस घटना से काफी चिंतित है।ऐसा संभवाना जताई गई है की किसी समय वो खुद ग्रामीणों की हाल जानने मोतीपुर पानाछपरा पहूच सकते है।ग्रमीणो की अधिकाँश टोली ने डीएम के करवाई से संतुष्टि जताया है।

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *