www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS
आइये जानते एक साधारण परिवार के ips अधिकारी की सफलता की कहानी…

आइये जानते एक साधारण परिवार के ips अधिकारी की सफलता की कहानी…

किशनगंज यह कहानी एक बहुत ही साधारण परिवार के बेटे की है जमुई के एक छोटे से गांव सिकंदरा (शायद आपने नाम सुना होगा) में पले बढे इस आईपीएस अधिकारी की सफलता More »

पर्यवेक्षिका स्व. पल्लवी के दहेज प्रताड़ना मामला में उसके पति को कोर्ट 3 साल का सजा सुनाया और 5 हजार रुपए का जुर्माना…

पर्यवेक्षिका स्व. पल्लवी के दहेज प्रताड़ना मामला में उसके पति को कोर्ट 3 साल का सजा सुनाया और 5 हजार रुपए का जुर्माना…

किशनगंज-पूर्व पर्यवेक्षिका ठाकुरगंज स्व० पल्लवी कुमारी के पति को 498A से सम्बंधित केस सं०-C1492 में मिली सजा,कोर्ट ने 3 साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना लगाया है।जुर्मना नहीं देने पर More »

दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका…

दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका…

बिहार में सरकार बेटी-पढ़ाव बेटी बचाव के अभियान पर जोड़ दे रही है।तो दूसरी तरफ दरिंदे बेटियों का जिना मुहाल कर दिया है।मुजफ्फरपुर में आए दिन लगातार लड़कियों की हत्याएं बढ़ती ही More »

प्रेम प्रसंग मॆ युवक और युवती को जबरन पिलाया ज़हर, भीड़ बना रहा तमाशबीन, प्रशासन है बेखबर, सोशल मीडिया पर हुआ वीडियो वायरल…

प्रेम प्रसंग मॆ युवक और युवती को जबरन पिलाया ज़हर, भीड़ बना रहा तमाशबीन, प्रशासन है बेखबर, सोशल मीडिया पर हुआ वीडियो वायरल…

मानवता भी शर्मसार हो गया जब यह मामला प्रकाश मॆ आया।किस तरह दो प्रेमियों को ज़बरदस्ती ज़हर पिलाया गया।कोइ इस मौत परोसने वालो कॊ रोकने और टोकने वाला भी नही मिला।पुलिस या More »

संपादक को बिना वारंट गिरफ्तार करने रांची पहुँच गई नालंदा पुलिस…

संपादक को बिना वारंट गिरफ्तार करने रांची पहुँच गई नालंदा पुलिस…

बिहार के मुखिया राज्य में कानून एवं न्याय की शासन की दुहाई देते हैं लेकिन उनके ही जिले नालंदा की पुलिस नियम एवं कानून की धज्जी उड़ाने और अपनी भद्द पिटवाने झारखंड More »

 

हिलसा एसडीओ के नेतृत्व में मानव श्रृखंला रहा फ्लाॅप…

हिलसा सूबे में दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ एक बार फिर लोग सड़क पर उतरे।पिछले साल शराबबंदी के समर्थन की तरह इसबार फिर से मानव श्रृखंला का निर्माण किया गया।नालंदा के हिलसा में भी दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों के उन्मूलन को लेकर हिलसा प्रशासन दो महीने से मानव श्रृखंला के प्रति पागल हो गई थीं।हिलसा एसडीओ श्रृष्टिराज सिन्हा स्वयं मानव श्रृखंला की सफलता को लेकर दिन रात एक किए हुए थें।हिलसा अनुमंडल के सभी 8 प्रखंडों के पदाधिकारियों से मैराथन बैठक करने में लगें 

थें।प्रखंड मुख्यालयों में जाकर पंचायत प्रतिनिधियों,निजी शिक्षण संस्थानों,सरकारी शिक्षकों,आंगनबाडी सेविका-सेविकाओं तथा अन्य कर्मचारियों के साथ मानव श्रृखंला को लेकर घंटों माथापच्ची करते रहें।दिशा निर्देश देते रहे।उनका प्रयास था कि हिलसा अनुमंडल क्षेत्र में मानव श्रृखंला पूरी तरह सफल रहें।जब चंडी प्रखंड के पत्रकारों ने बीडीओ के असहयोग रवैये से नाराज मानव श्रृखंला का समाचार संकलन का विरोध किया तो हिलसा एसडीओ आनन फानन में चंडी आकर पत्रकारों से बात की।यहाँतक कि उन्होंने अनुमंडल के सभी पत्रकारों की एक बैठक बुलाकर मानव श्रृखंला में सहयोग देने का आह्वान भी किया।लेकिन जब रविवार को मानव श्रृखंला का समय आया तो हिलसा एसडीओ को झटका का सामना करना पड़ा।जहाँ हिलसा एसडीओ अप्रत्याशित भीड़ की आशाकर रहे होंगे उन्हें वहाँ निराशा ही हाथ लगी।धन्य रहा स्कूली बच्चे जो मानव श्रृंखला में जहाँ खड़ा कर दिया वहां खड़े के खड़े रह 

गए।अन्यथा सुशासन बाबू के गृह जिला में पूरी तरह मानव श्रृंखला पिट जाती।हाईकोर्ट के पहला से पांचवां तक के बच्चों को मानव श्रृंखला में नहीं खड़ा रहने का आदेश के रोक के बाबजूद चंडी में आंगनवाड़ी के बच्चे से लेकर प्राथमिक विधालय के बच्चे भी मानव श्रृंखला में लगे रहे।नगरनौसा और चंडी प्रखंड के बोर्डर पर भी करीब आधा किलोमीटर तक मानव श्रृंखला टूटी रह गया।वहीँ माधोपुर बाजार,लालगंज के कुछ जगहों पर,गोखुलपुर,बढ़ौना,गौढ़ापर,सालेहपूर में मानव श्रृंखला पूरी तरह टूटी हुई थी।लोग जहाँ तहां स्कूली बच्चे को लेकर शिक्षक लोग खड़े रहे।लेकिन ग्रामीण लोग तमाशबीन बनकर देखते रहे।सबसे बुरी हाल चंडी जैतीपुर से लेकर मुख्यमंत्री नितीश कुमार के गृह प्रखंड को जोड़ने वाली सड़क पर रहा।इस रास्ते पर बसने वाली गाँव के ग्रामीण लोग मानव श्रृंखला में कोई उत्साह नहीं दिखाया।जहाँ जहाँ स्कूल थी वहां वहां स्कूल के शिक्षक अपने छात्र छात्राओं के साथ खड़ा रहे। बाकी सभी जगह मानव श्रृंखला का चेन टूटी रही। यही हाल नगर नौसा का रहा। जब कि थरथरी में मानव श्रृंखला बनाने में ग्रामीणों के साथ बच्चों में 

ख़ासा उत्साह देखा गया।ग्यारह बजते ही लोग अपने घर से अपने बच्चों के साथ निकलकर रोड पर पहुँच गये।वही बारह बजते बजते लोग एक दुसरे से हाथ में हाथ मिलाते हुए मजबूती से दहेज प्रथा व मानव श्रृंखला को उन्मूलन का सन्देश दिया।इस दौरान स्कूली छात्राओं ने रोड पर रंगोली बनाकर दहेज प्रथा और बाल विवाह उन्मूलन का सन्देश दिया।वही बीडीओ तरुण कुमार यादव ने कहा की मानव श्रृंखला में उम्मीद से जयादा लोग शामील होकर अपना उपस्थिति दर्ज कराया। पिछले कई माह से जनता से जुड़ी सारा कार्य ठप कर हिलसा अनुमंडल में पहले ओडीएफ को लेकर प्रशासन वयस्त रही।तो पुलिस महकमा सारा क्राइम छोड़कर शराब के पीछे पागल हो गया है।उधर से कुछ फुरसत मिली तो अब दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी कुरीतियों के उन्मूलन को लेकर हिलसा एसडीओ मानव श्रृंखला के प्रति पागल हो गयी थी।गनीमत रहा कि इस मानव श्रृंखला में सरकारी और प्राइवेट स्कूल के छात्र अगर शामील नहीं होते तो हिलसा अनुमंडल में मानव श्रृंखला टांय टांय फिस्स हो जाता।इसका मुख्य कारम नितीश कुमार के काम काज से हिलसा अनुमंडल में काफी नराजगी बतायी जाती है यही कारण है की मानव श्रृंखला में लोग तमाशबीन बनकर खड़े रहे और छोटे छोटे बच्चे लाइन में खड़े रहे।हिलसा एसडीओ श्रृष्टिराज सिन्हा स्वयं मानव श्रृखंला की सफलता को लेकर दिन रात एक किए हुए थें।

हिलसा अनुमंडल के सभी आठ प्रखंडों के पदाधिकारियों से मैराथन बैठक करने में लगें थें।प्रखंड मुख्यालयों में जाकर पंचायत प्रतिनिधियों,निजी शिक्षण संस्थानों,सरकारी शिक्षकों,आंगनबाडी सेविका-सेविकाओं तथा अन्य कर्मचारियों के साथ मानव श्रृखंला को लेकर घंटों माथापच्ची करते रहें।दिशा निर्देश देते रहे।उनका प्रयास था कि हिलसा अनुमंडल क्षेत्र में मानव श्रृखंला पूरी तरह सफल रहें।जब चंडी प्रखंड के पत्रकारों ने बीडीओ के असहयोग रवैये से नाराज मानव श्रृखंला का समाचार संकलन का विरोध किया तो हिलसा एसडीओ आनन फानन में चंडी आकर पत्रकारों से बात की।यहाँ तक कि उन्होंने अनुमंडल के सभी पत्रकारों की एक बैठक बुलाकर मानव श्रृखंला में सहयोग देने का आह्वान भी किया।लेकिन जब रविवार को मानव श्रृखंला का समय आया तो हिलसा एसडीओ को झटका का सामना करना पड़ा।जहाँ हिलसा एसडीओ अप्रत्याशित भीड़ की आशा कर रहे होंगे उन्हें वहाँ निराशा ही हाथ 

लगी होगी।धन्य रहा स्कूली बच्चे जो मानव श्रृंखला में जहाँ खड़ा कर दिया वहां खड़े के खड़े रह गए।अन्यथा सुशासन बाबू के गृह जिला में पूरी तरह मानव श्रृंखला पिट जाती।हाईकोर्ट के पहला से पांचवां तक के बच्चों को मानव श्रृंखला में नहीं खड़ा रहने का आदेश के रोक के बाबजूद चंडी में आंगनवाड़ी के बच्चे से लेकर प्राथमिक विधालय के बच्चे भी मानव श्रृंखला में लगे रहे।नगर नौसा और चंडी प्रखंड के बोर्डर पर भी करीब आधा किलोमीटर तक मानव श्रृंखला टूटी रह गया।वहीँ माधोपुर बाजार, लालगंज के कुछ जगहों पर, गोखुलपुर, बढ़ौना, गौढ़ापर, सालेहपूर में मानव श्रृंखला पूरी तरह टूटी हुई थी।लोग जहाँ तहां स्कूली बच्चे को लेकर शिक्षक लोग 

खड़े रहे।लेकिन ग्रामीण लोग तमाशबीन बनकर देखते रहे।सबसे बुरी हाल चंडी जैतीपुर से लेकर मुख्यमंत्री नितीश कुमार के गृह प्रखंड को जोड़ने वाली सड़क पर रहा।इस रास्ते पर बसने वाली गाँव के ग्रामीण लोग मानव श्रृंखला में कोई उत्साह नहीं दिखाया।जहाँ जहाँ स्कूल थी वहां वहां स्कूल के शिक्षक अपने छात्र छात्राओं के साथ खड़ा रहे।वाकी सभी जगह मानव श्रृंखला का चेन टूटी रही। यही हाल नगरनौसा का रहा।जबकि थरथरी में मानव श्रृंखला बनाने में ग्रामीणों के साथ बच्चों में ख़ासा उत्साह देखा गया। ग्यारह बजते 

ही लोग अपने घर से अपने बच्चों के साथ निकलकर रोड पर पहुँच गये।वही बारह बजते बजते लोग एक दुसरे से हाथ में हाथ मिलाते हुए मजबूती से दहेज प्रथा व मानव श्रृंखला को उन्मूलन का सन्देश दिया।इस दौरान स्कूली छात्राओं ने रोड पर रंगोली बनाकर दहेज प्रथा और बाल विवाह उन्मूलन का सन्देश दिया।वही बीडीओ तरुण कुमार यादव ने कहा की मानव श्रृंखला में उम्मीद से जयादा लोग शामील होकर अपना उपस्थिति दर्ज कराया।

रिपोर्ट-सोनू कुमार 

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 3:05PM

मानव श्रृंखला के दौरान दबंगई करने वाले बीडीओ को भीड़ ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा…

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 3:15PM

कुरीतियों के खिलाफ लड़ने का संकल्प लेने के लिए लाखों लोग जिले की सड़कों पर…

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 3:35PM

मानव शृंखला में हर बेटी की यही पुकार बाल विवाह व दहेज मुक्त हो अपना बिहार…

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 4:05PM

अररिया गुब्बारा उड़ाकर सभी पदाधिकारियों ने मानव श्रंखला का किया आगाज…

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 4:15PM

मुज़फ्फ़रपुर कही भीड़, तो कही सन्नाटा, फिर भी मिली सफलता…

kewalsachlive.in । Updated Date: Jan 22 2018 4:55PM

नालंदा जनभागीदारी दिखी मानव श्रृंखला में…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *