www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

सीसीटीवी पर पुलिस की चुप्पी, पीड़ित परिवार भी परेशान…

हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला के खिलाफ छेड़छाड़ मामले में पुलिस की कार्रवाई और रवैये पर सवाल उठ रहे हैं।मंगलवार शाम पुलिस का पक्ष रखने के लिए चंडीगढ़ एसएसपी ईश सिंघल प्रेस के सामने हाजिर जरूर हुए,लेकिन उन्होंने मीडिया के सभी सवालों का जवाब नहीं दिया।खास तौर पर सीसीटीवी फुटेज से जुड़े अहम सवालों पर उन्होंने कन्नी काट ली।हालांकि सिंघल ने मामले में राजनीतिक दबाव होने की बात को खारिज किया।उधर सीसीटीवी फुटेज कथित तौर पर गायब होने की बात से पीड़ित परिवार को भी धक्का लगा है।प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी सिंघल ने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस बिना किसी दबाव के काम करने वाली एजेंसी है।उन्होंने कहा,’हम किसी दबाव में नहीं हैं,अगर दबाव होता तो पहले ही दिन हम

एफआईआर दर्ज क्यों करते ? केस में किडनैपिंग की धारा न जोड़े जाने से जुड़ा सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो और धाराएं भी जोड़ी जाएंगी।इस मामले में सीसीटीवी फुटेज को लेकर भी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।यह जानकारी भी सामने आई थी कि जिस इलाके में छेड़छाड़ हुई,वहां के सीसीटीवी फुटेज ही गायब हैं।इसी आधार पर यह कहा जा रहा है कि पुलिस आरोपी को

बचाने की कोशिश कर रही है।इस बारे में सवाल पूछे जाने पर सिंघल ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया।उन्होंने कहा,’वारदात वाले रूट पर जो भी सीसीटीवी लगे हैं हम उनकी छानबीन कर रहे हैं।हरियाणा के आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ मामले को लेकर चंडीगढ़ पुलिस लगातार सवालों के घेरे में आ रही है।इस बीच सोमवार शाम 5 बजे चंडीगढ़ पुलिस के एसएसपी ईश सिंघल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की।उन्होंने कुछ सवालों के जवाब दिए,फिर बीच में ही प्रेस कॉन्फ्रेंस छोड़कर चले गए।एसएसपी ईश सिंघल ने कहा कि इस 

इन 8 जगहों से मिल सकते हैं CCTV फुटेज
  • ट्रांसपोर्ट लाइट प्वाइंट
  • कलाग्राम लाइट प्वाइंट
  • हाउसिंग बोर्ड लाइट पॉइंट
  • सेक्टर-26/7 का लाइट प्वाइंट
  • मध्य मार्ग पर सेक्टर-26 ग्रेन मार्केट चौक
  • सेक्टर-9 इंटरनल मार्केट की वाइन शॉप, आरोपी विकास बराला और आशीष ने यहीं से शराब खरीदी थी।
  • सेक्टर-7 का पेट्रोल पंप और मार्केट यहां आरोपियों ने सड़क पर ही शराब पी थी।यहीं से लड़की के पीछे अपनी कार लगाई थी।सेक्टर-26 के खालसा कॉलेज का लाइट प्वाइंट।यहां आरोपियों ने लड़की की कार के आगे अपनी कार लगाकर उसे रोकना चाहा।

केस का मीडिया ट्रायल हो रहा है।हम अपने स्तर पर हर एंगल से जांच कर रहे हैं।जरुरत पड़ने पर धारा जोड़ी जाएंगी।उन्होंने कहा कि पुलिस पर कोई दबाव नहीं है।अगर दबाव होता तो घटना के तुरंत बाद ही मामला दर्ज नहीं किया जाता।सीसीटीवी फुटेज बरामद न होने के बयान पर सिंघल ने कहा कि पुलिस हर सीसीटीवी के फुटेज ले रही है।इस तरह की कोई बात नहीं है।हर कैमरा चेक किया जा रहा है।लगातार सोशल मीडिया पर भेदभाव के आरोप लगने के बाद अब पुलिस ने लड़की की शिकायत और कोर्ट में सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दिए गए बयानों को डीडीए मुनीष दुआ के पास कानूनी राय के लिए भेजा है।सोमवार को उनकी कानूनी राय आने के बाद पुलिस तय करेगी कि क्या आरोपी गौरव बराला और आशीष के खिलाफ किडनैपिंग के प्रयास की धारा 365/511 के तहत केस दर्ज किया जाए या नहीं।अगर डीडीए अपनी रिपोर्ट में केस दर्ज करने की इजाजत देते हैं तो आरोपियों को पुलिस दोबारा हिरासत में ले सकती है।इसके बाद उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है।शुक्रवार रात करीब 11-12 बजे चंडीगढ़ में एक आईएएस 

अफसर की बेटी अपनी कार से जा रही थी।लड़की का आरोप है कि कार सवार दो लड़कों ने उसका पीछा किया।उसकी कार के आगे अपनी कार अड़ाकर रोका।गेट से बाहर खींचने की कोशिश की।लड़की ने तुरंत पुलिस काे फोन लगाया।मदद के लिए मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को अरेस्ट कर लिया।पुलिस के मुताबिक आरोपी नशे में थे।इनमें से एक हरियाणा के बीजेपी चीफ सुभाष बराला का बेटा था।पुलिस ने शनिवार को दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया,जहां से उन्हें जमानत दे दी गई।अब विक्टिम की मांग है कि आरोपियों पर किडनैप की धारा भी लगाई जाए।इस मामले में विक्टिम के पिता ने लोगों से अपील की कि वे महिला अपराध के खिलाफ लड़ाई लड़ें।उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट में कहा, “अगर हम मुजरिम को सजा दिलाने के लिए कोशिश नहीं करेंगे, लड़ाई नहीं लड़ेंगे तो ना जाने कितनी बेटियों को दर्द उठाना पड़ेगा।छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली लड़की ने कहा है कि वह खुशकिस्मत है,जो किसी आम आदमी की बेटी नहीं, वरना उसके केस को गंभीरता से नहीं लिया जाता।विक्टिम ने मीडिया को बताया, “मैं अपने घर लौट रही थी, तभी उन्होंने मेरा पीछा करना शुरू कर दिया। वे मेरी कार को रोकने के लिए मुझे धमका रहे थे।उन्होंने सामने अपनी कार अड़ाकर मेरी कार रोक दी। मैंने फौरन अपनी कार पीछे ली और पुलिस को फोन लगाया।पुलिस ने पूरी बात सुनी और मदद का भरोसा दिलाया।जल्द ही पुलिस आई और आरोपियों को अरेस्ट कर लिया। मैं चंडीगढ़ पुलिस की शुक्रगुजार हूं, जो मुझे बचाने वक्त पर पहुंच गई।लड़की ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर लिखा,”मुझे लगता है कि मैं लकी हूं कि किसी आम आदमी की बेटी नहीं हूं। क्योंकि वे लोग किसी वीआईपी का मुकाबला कैसे कर पाते। मैं लकी हूं कि मेरा रेप या मर्डर नहीं हुआ।राहुल गांधी ने रविवार को युवती से छेड़छाड़ के मामले में बीजेपी पर तीखा बयान दिया था। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार मुजरिमों और अपनी विचारधारा वालों से साठगांठ न करे, बल्कि उनको सजा दे।उन्होंने कहा कि एक लड़की को किडनैप करने की कोशिश और उसकी इज्जत से खिलवाड़ करने की घटना की कांग्रेस निंदा करती है।

रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *