www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

संपत्ति के विवाद में हुई अभिजीत की हत्या…

शहर के रुईधासा में मंगलवार को युवक का शव पंखे से लटका पाए जाने के बाद बुधवार को मायके से लौटी मृतक की पत्नी के लिखित शिकायत पर टाउन थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।अपने आवेदन में मृतक अभिजीत कुमार घोष उर्फ शंकू की पत्नी माया घोष ने अपनी सास, भैंसूर व जेठानी सहित स्थानीय व्यवहार न्यायालय के एक मुंशी के विरुद्ध संपत्ति विवाद में पति के साथ मारपीट करने तथा गला घोंटकर हत्या करने का आरोप लगाया है।माया का कहना है कि कुछ दिन पूर्व ही उसकी सास ने साङोदारी के जमीन का सौदा 90 लाख रुपये में किया था।परंतु शंकू को एक फूटी कौड़ी भी नहीं दी थी।जिसे लेकर परिवार में विवाद उत्पन्न हो गया था।उसने बताया कि दो दिन पूर्व वह भद्रपुर नेपाल स्थित मायके चली गई थी।मंगलवार को अजरुन साह तथा कोर्ट मुंशी शमीम उसे लेने भद्रपुर गए थे।घर वापस आने के बाद उसे पति का शव मिला।उसने बताया कि साङोदारी की जमीन बेचने के बाद मिले रुपयों को हड़पने के उद्देश्य से भैसूर सुरजीत घोष उर्फ बंटी, जेठानी 

कविता घोष, सास रीता घोष उर्फ संगीता घोष ने मुंशी शमीम के साथ मिलकर उसके पति की हत्या कर दी तथा साक्ष्य छिपाने के नियत से शव को पंखे से लटका दिया था।वही कामिनी बाला, एसडीपीओ, किशनगंज ने कहा की मृतक के पत्नी के लिखित शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 302, 120 बी/34 के तहत टाउन थना में कांड संख्या 464/17 दर्ज कर पुलिस मामले 

की जांच में जुट गई है।इस घटना से मोहल्ले में सनसनी फैल गई।पुलिस की जांच में घरेलू विवाद की बात सामने आई है।पुलिस ने हत्या की आशंका जताई है।इसे देखते हुए तीन सदस्यीय मेडिकल टीम ने शव का पोस्टमार्टम किया।मृतक अभिजीत कुमार घोष (32) मोहल्ले के स्वo दिलीप कुमार घोष का बेटा था।सुबह में घटना की सूचना मिलने पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। पुलिस ने पाया कि मृतक अभिजीत शव उसके कमरे में पंखे से लटका था।मृतक का पैर जमीन से सटा हुआ था तथा घुटना भी मुड़ा हुआ था।

उसके चेहरे पर पुलिस ने कटे का निशान पाया।टाउन थाना पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल भेज दिया।सदर अस्पताल में तीन सदस्यीय टीम में शामिल डीएस डॉ.आरपी सिंह, डॉ. रफत हुसैन व डॉ. एनके प्रसाद ने शव का

पोस्टमार्टम किया और उसके उपरांत शव परिजनों को सौंप दिया गया।इस संबंध में थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार राय ने बताया कि स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार विगत कई दिनों से मृतक का अपने ही मां व भाइयों से पारिवारिक विवाद चल रहा था।

यहाँ गौर करे की पंखा का एक पत्ती में फंदा को अटकाया गया है।पैर जमीन पर घुटना मुड़ा हुआ है।पंखा का स्वीच ऑफ किया हुआ है।बिस्तर बिल्कुल चकाचक है।एक बात गौर करने वाली यह हैं कि फांसी लगाने पर जीभ बाहर आ जाता है।फांसी जो भी लगाएगा वो क्या दरवाजा खोलकर लगाएगा या दरवाजा बंद करके…? और जमीन पर पैर सटा हुआ और घुटना मुड़ा हुआ है।पर यहाँ रूम खुला करके, खिड़की खुला कर के फांसी लगाया जो समझ से परे है।अभी सभी आरोपी गिरफ्तारी के भय से फरार है…

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *