www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

संजय अपनी सगी बहन से शादी में कराता था डांस यह बात छोटे भाई विजय को मंजूर न था यह बात छोटे भाई विजय को मंजूर न था करा दी हत्या पुलिस ने किया खुलासा…

राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ की अल्वा कॉलोनी में 10 दिन पहले सिंगर संजय सागर की हत्या उसके छोटे भाई ने कराई थी।संजय अपनी सगी बहन से शादी में डांस करता था। यह बात छोटे भाई विजय को मंजूर न था।इसी नाराजगी में उसने बड़े भाई की हत्या करा दी।पुलिस ने सोमवार को इसका खुलासा किया।पुलिस ने मृतक के छोटे भाई विजय सहित तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।10 दिन में ही इस ब्लाइंड केस का खुलासा डीएसपी रामाकांत प्रसाद और इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार की टीम ने करते हुए तीन हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया।एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि पुलिस को हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद हो गया है।इसके अलावा पुलिस को घटनास्थल से कुछ कपड़े आदि मिले थे,जिसे हत्यारे घटना के समय पहने हुए थे।पुलिस ने सभी हत्यारों को पूछताछ के बाद जेल भेज दिया।सभी 

अपराधियों को स्पीडी ट्रायल कराकर सजा दिलाई जाएगी।साथ ही हत्याकांड का खुलासा करनेवाली पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की।परसा बाजार के मौलाना बुद्धूचक निवासी बड़े भाई संजय सागर से छोटे भाई विजय ने नाराजगी के बाद उसे रास्ते से हटाने का मन बना लिया।अपने स्टाफ आकाश को विजय ने बीस हजार रुपए में हत्या की सुपारी देने के लिए कुख्यात अपराधी मंगरू पासवान के बेटे उपेंद्र के पास भेजा।इसके बाद के साजिश के तहत उपेंद्र ने संजय सागर को सीडी कैसेट तैयार करने के बहाने से रानीपुर बुलाया।यहां से संजय सागर को झांसे में लेकर उपेंद्र अपने साथ बगल की अल्वा कॉलोनी के बधार में ले गया,जहां संजय के भाई विजय और आकाश के साथ मिलकर ईंट-पत्थरों से कूंच कूंच कर निर्ममतापूर्वक मार डाला।17 नवंबर को एक बाउंड्री में संजय

की लाश मिली।डीएसपी रमाकांत प्रसाद और इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में बनी टीम ने अनुसंधान के दौरान पाया कि मृतक संजय सागर के साथ ही उसके छोटे भाई विजय कुमार,विजय के स्टाफ आकाश कुमार और रानीपुर निवासी कुख्यात अपराधी रीतलाल पासवान उर्फ मंगरू पासवान के बेटे उपेंद्र कुमार के मोबाइल का टावर लोकेशन एक साथ था।इधर,पुलिस को चकमा देने के इरादे से मृतक संजय का छोटा भाई विजय दिमागी तौर पर बीमार रहने का ड्रामा करने लगा।पुलिस जब भी उसे थाने बुलाती तो वह याददाश्त खो जाने का नाटक करने लगता।इससे पुलिस का शक गहरा हो गया।

रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *