www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

रायन इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड में एक नया मोड़, हॉस्पिटल लाने तक जिंदा था प्रद्युम्न…

गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड में एक नया मोड़ सामने आया है।सेफ हैण्ड हॉस्पिटल के डा० रोमित हुड्डा का दावा है कि जब प्रद्युम्न को हॉस्पिटल लाया गया,तब वो जिंदा था।बतादें कि सेफ हैण्ड हॉस्पिटल में ही सबसे पहले प्रद्युम्न को ले जाया गया था।डॉ0 हुड्डा ने बताया कि ‘सुबह करीब 8 से 8:30 के बीच की बात है।जब प्रद्युम्न को हॉस्पिटल लाया गया था।हमने उसे ऑक्सीजन सिलेंडर लगाया।इसके बाद उसे अर्टेमिस हॉस्पिटल ले गए।इसी बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मासूम प्रद्युम्न के घर पहुंचे।यहां उन्होंने प्रद्युम्न के पिता वरुण से बातचीत की।सीएम ने परिवार

से मिलकर मामले की सीबीआई जांच का आश्वासन दिया।इसके अलावा हरियाणा सरकार ने रायन स्कूल की इस ब्रांच को तीन महीने के लिए टेकओवर कर लिया है।गौरतलब है कि स्कूल की सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ चुकी है।इसमें बच्चे के स्कूल में आने से लेकर उसके टॉयलेट जाने तक की सारी घटनाएं कैद है।इस फुटेज में इस बात का भी खुलासा हुआ कि टॉयलेट में गला काटे जाने 

के बाद घायल प्रद्युम्न अपने कटे हुए गले को पकड़कर घिसटते हुए बाहर आया था।बतादें आठ सितंबर को रायन इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के प्रद्युम्न की चाकू से गला काटकर हत्या कर दी गई थी।शुरुआत में कंडक्टर अशोक ने अपना जुर्म कबूला था और कहा था कि उसने ही प्रद्युम्न की हत्या की है।लेकिन अब वो अपने बयान से पलट गया है।आरोपी ने अपने वकील मोहित वर्मा को बताया वो निर्दोष है और उसे जबरदस्ती इस केस में फंसाया जा रहा है।आरोपी कंडक्टर अशोक के वकील मोहित वर्मा ने कहा है कि पुलिस ने अशोक को मारपीट और करंट के झटके देकर जबरदस्ती बयान दर्ज करवाया था।अशोक ने अपने वकील को बताया कि उसके झूठे साइन कराए, झूठा मुकदमा लगाया, टार्चर किया, और नशे के इंजेक्शन लगाकर उसे मीडिया के सामने पेश किया गया।

मीडिया में दिए गए बयान पर उसने वकील को बताया कि उसे नशे के इंजेक्शन लगाए गए थे और उसे ये बयान देने के लिए मजबूर किया गया।आरोपी कंडक्टर ने वकील को बताया कि पुलिस ने उसे टॉर्चर किया है और जबरदस्ती जुर्म कबूलने का दबाव बनाया गया।आरोपी कंडक्टर ने बताया कि कबूलनामे पर उससे जबरदस्ती हस्ताक्षर करवाए गए।आरोपी कंडक्टर अशोक के वकील ने कहा है कि पुलिस ने अशोक को मारपीट और करंट के झटके देकर जबरदस्ती बयान दर्ज करवाया था।आठ सितंबर को रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के प्रद्युम्न की चाकू से गला काटकर हत्या कर दी गई थी।शुरुआत में अशोक ने अपना जुर्म कबूला था और कहा था कि उसने ही प्रद्युम्न की हत्या की है।

रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *