www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

ब्रांडेड बोरी में पैक रहता है नमक, बालू और केमिकल वाला नकली खाद हुजुर, ठगे जा रहे किसान, मालामाल हो रहे व्यापारी…

ब्रांडेड बोरी में पैक रहता है नमक,बालू और केमिकल वाला नकली खाद हुजुर आपको मालुम हो की कोसी के इलाकों में नमक और बालू को मिलाकर नकली खाद बनाने का एक बड़ा नेटवर्क काम कर रहा है।नकली खाद बनाने वालों का नेटवर्क कोसी के गांव-गांव में फैला हुआ है।नकली खाद के कारोबारी नमक और बालू से खाद तैयार ब्रांडेड खाद के बोरी में पैक कर इसे बेच रहें हैं।रबी फसल का मौसम आते ही यूरिया की किल्लत होने पर नकली खाद के कारोबारी पूरे कोसी क्षेत्र में सक्रिय हो जाते हैं।जिले के विभिन्न हिस्सों में नकली खाद की खेप को पकड़ा भी गया है।इसके बावजूद नकली खाद के कारोबारी बेखौफ होकर इस कारोबार में जुटे हुए हैं।यूरिया की किल्लत होने पर किसानों को आसानी से कम कीमत पर यह खाद मिल जाती है। ब्रांडेड बोरी में पैक होने की वजह से किसान समक्ष नहीं पाते हैंयह खाद असली है कि नकली।वर्ष 2017 में भी जिले के उदाकिशुनगंज में एक ट्रक पर नकली खाद को पुलिस ने पकड़ा था। नमक,बालू और केमिकल का इस्तेमाल कर नकली खाद का कारोबार यहां के गांव-गांव में फैला हुआ है। नकली खाद को तैयार करने के बारे में कहा जा रहा है कि इसे तैयार 

करने में नमक,बालू और कई प्रकार के केमिकल का भी इस्तेमाल किया जाता है।नकली खाद और ब्रांडेड कंपनियों के खाद को देखने में कोई खास अंतर होता नहीं है।ऐसे में किसान इसे पकड़ नहीं पाते हैं।इस वजह से ग्रामीण इलाकों में किसानों के बीच इसे धड़ल्ले के साथ बेचा जा रहा है।यूरिया की किल्लत होने पर किसान आसानी से खाद मिलने पर इसे खरीद लेते हैं।आपको मालुम हो की नकली खाद के इस कारोबार में जहां किसान ठगी के शिकार हो रहें हैं।वहीं व्यापारी मालामाल हो रहें हैं।नकली खाद का कारोबार मुख्य रूप से कोसी-सिमांचल के ग्रामीण इलाकों में किया जाता है।नकली खाद की खेप को कोसी-सिमांचल के ग्रामीण इलाकों में यूरिया का व्यापार करने वाले दुकानदारों के पास इसे पहुंचाया जाता है।जहां इसे आसानी से खपाने का प्रयास किया जाता है।लाल रंग का पोटाश जहां बाजार में 500 से 550 रुपये प्रति बोरा बिक रहा है।वहीं नकली पोटाश इसी दर बाजार में बेचा जा रहा है। कई किसानों को लुभाने के उसे दुकानदारों के द्वारा उधार भी दे दिया जाता है।वही यदुनंदन प्रसाद यादव जिला कृषि पदाधिकारी मधेपुरा का कहना है की बाजार में यूरिया पर्याप्त मात्र में उपलब्ध है।नकली खाद के कारोबार की कोई सूचना नहीं है। समय समय पर विभागीय स्तर पर जांच अभियान चलाया जाता है।जांच अभियान के दौरान सैंपल लाकर लैब में जांच किया जाता है।इस तरह के कारोबार की सूचना मिलने पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *