www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

बिहार के भोजपुर किशनगंज-ठाकुरगंज सीतामढ़ी जमुई ओरंगाबाद में मुहर्रम जूलूस के दौरान पत्थरबाजी और लाठीचार्ज में कई घायल…

बिहार के भोजपुर जिले के पीरो में तनाव के कारण पूरे जिले में प्रशासन ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है।रविवार को पीरो के नगर के पीटन देवी मंदिर रोड में ताजिया जुलूस के दौरान रोड़ा फेंकने के बाद दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हो गयी थी।बाद में दोनों गुटों के बीच जमकर पथराव हुआ था।जिसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए।आक्रोशित लोगों ने दो दर्जन दुकानों में तोड़फोड़ भी की।पुलिस को स्थिति कंट्रोल करने के लिए फायरिंग करनी पड़ी।आक्रोशित लोगों ने बोलेरो,बस बाइक समेत एक दर्जन वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया।रोड़ेबाजी के कारण पुलिस को बैरंग वापस लौटना पड़ा।इस दौरान भीड़ ने पुलिस-प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए।घटना में शिवदत पंडित, विश्वनाथ साह,प्रिंस सिंह, जौदीन खां,अजय कुमार अरशद शेख को चोटें आई है।भाजपा नेता मदन स्नेही के बाएं कंधे में गोली लगी है।उन्हें आरा एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
बाद में पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए आधा दर्जन राउंड फायरिंग करनी पड़ी।हालांकि,फायरिंग की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।घटना शाम करीब पांच बजे की है। एसपी अवकाश कुमार ने पुलिस की ओर से फायरिंग किए जाने से इंकार किया है।एसपी ने कहा कि उपद्रव के सिलसिले में 15 लोगों को हिरासत में लिया गया है।मदन स्नेही को कैसे छर्रा लगा है,इसकी जांच की जा रही है।बताया जा रहा कि रविवार की शाम पीरो के बिहिया रोड से तजिया जुलूस निकला हुआ था।यह ताजिया जुलूस बिहिया रोड से 
निकलने के बाद पीरो थाना रोड की ओर गया।इस दौरान तजिया जुलूस को पीटन देवी रोड से ले जाया जा रहा था,तभी विवाद खड़ा हो गया।आरोप है कि शरारती तत्वों ने तजिया जुलूस पर रोड़े फेंके।जिसके बाद टकराव शुरू हो गया।दोनों तरफ से ईंट-पत्थर चलने शुरू हो गए।जिसके बाद यहां भगदड़ मच गयी।पीरो में उपद्रव के बाद डीएम संजीव कुमार, एसपी अवकाश कुमार पहुंचे।पीरो बाजार में फ्लैग मार्च निकाला।हालात पर काबू पाने के लिए मुख्यालय से अतिरिक्त बल भी मंगाया गया।तनावपूर्ण हालत को देखते हुए धारा-144 लगा दी गई है।
किशनगंज-ठाकुरगंज में दो गुटों में तनाव पत्थरबाजी और लाठीचार्ज में कई घायल बवाल एसएसबी ने संभाली कमान,ठाकुरगंज थानेदार हटाए गए,डीएम-एसपी कर रहे हैं कैप डीएम और एसपी ने गठित की तीन सदस्य जांच टीम…
ठाकुरगंज मुहर्रम जूलूस के दौरान किशनगंज शहर और ठाकुरगंज में दो गुटों में विवाद के बाद तनाव बढ़ गया।ठाकुरगंज दो गुटों के लोग आमने-सामने गये।इस दौरान एक गुट के लोगों ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ टायर जलाकर विरोध जताना शुरू कर दिया।सूचना पाकर पहुंची मामले को शांत कराने का प्रयासकर रही थी कि इसी दौरान दोनों तरफ से पत्थरबाजी होने लगी।जिसमें एसआई 
विपिन बिहारी समेत तीन जवान भी घायल हो गये।स्थिति अनियंत्रतित होता देख एसएसबी 19 वीं बटालियन को बुलाया गया।इसके बाद पुलिस ने उपद्रवियों को भगाने के लिए लाठीचार्ज किया जिसमें कई लोग घायल हो गए।घटना की सूचना की मिलते ही एसडीपीओ कामिनी बाला घटनास्थल पर पंहुचे आैर लोगों को समझा मामले को शांत कराया।एसडीपीओ कामिनी बालाने बताया कि ठाकुरगंज थानाध्यक्ष राजेश तिवारी को हटा कर उनकी जगह बहादुरगंज इंस्पेक्टर रंजन कुमार को थाना का प्रभार सौंपा गया।स्थिति नियंत्रण में है।आपको बताते चले की सूचना पाकर डीएम पंकज दीक्षित और एसपी राजीव मिश्रा भी ठाकुरगंज थाने पँहुचकर 
मामले पर नजर रखते हुए कैम्प किये हुये है।उधर,किशनगंज जिला मुख्यालय के मोतीबाग चौक पर भी देर शाम दो गुटों के विवाद में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई।एक गुट के आक्रोशित लोगों ने टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया।सूचना पाकर एडीएम रामजी साह और थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार राय मौके पर पहुंचे और लोगों काे समझाकर शांत कराया।जिले के संवेदनशील जगहों पर भारी मात्रा में पुलिस की तैनाती की गई है।गौर करे की तनावपूर्ण स्थिति के बाद ठाकुरगंज थाना पहुंचे डीएम पंकज दीक्षित और एसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की गई है जिसमें एसडीएम मो. शफीक, एडीएम रमाशंकर और एसडीपीओ कामिनी बाला शामिल हैं।घटना दुर्भाग्यपूर्ण है।माहौल खराब करने का प्रयास करने वालों को चिन्हित कर
उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि शांति कायम रखते हुए अफवाहों पर ध्यान दें।असमाजिक तत्व किसी तरह की अफवाह फैलाने की चेष्टा करता है तो इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन को अवश्य दें।पुलिस और प्रशासन की सोशल मीडिया पर भी नजर है।बड़े अफ़सोस की बात है कि किशनगंज जिला जिसकी गंगा जमनी तहजीब की लोग मिसाल देते हैं।आज वह कुछ मुठ्ठी भर असमाजिक तत्वों और साम्प्रदायिक ताकतों नजर में खटक रहा है जो किशनगंज जिला के किसी भी हिस्से में कुछ ना कुछ शरारत से बाज नहीं आते हैं जिससे ना सिफ॔ प्रशासन की परेशानी बढ़ती बल्कि आम लोगों के चैन 
सकून खत्म हो जाते हैं।उस पर कुछ ऐसे लोग जो पहले से हवा देने के लिए तैयार रहते हैं वह तरह तरह की अफवाहों का बाजार गर्म करके माहौल को और भी ख़राब करने में कोई कसर बाक़ी नहीं छोते हैं।ठाकुरगंज मामले में भी कुछ लोग अफवाहों का बाजार गर्म करने में सरग॔म हैं।प्रशासन वैसे लोगों की खबर ले।ठाकुरगंज थानाध्यक्ष का विभाग ने तबादला कर दिया ये कहा तक उचित…क्या 
थानाध्यक्ष ने दंगा कराया है ? कोई भी थानाध्यक्ष अपने इलाके में नहीं चाहता की अशांति हो पर ठाकुरगंज थानाध्यक्ष का तबादले से लोगो में तरह तरह का चर्चा है…लोगो का कहना है की थानाध्यक्ष से जो बना ओ किया पर आनन फानन में तब्दला कर देना समझ से पड़े है।लोगो का कहना था की जिसको तबदाला करना है उसको तो विभाग कुछ नहीं कर रहा चाहे जो भी आरोप लगे चाहे कितनो सालो से जिले में डटे हो किन्तु जो दिन रात एक करके निर्भीकता पूर्वक कार्य किया उसको विभाग ने ऐसी सजा दी…..
जुलुस के दौरान पुलिस पर हमला, सीतामढ़ी डीएम को लाठी लेकर उतरना पड़ा रोड पर…
सीतामढ़ी में धर्म विशेष के जुलुस के दौरान आसामाजिक तत्वों माहौल को तनावपूर्ण बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।लोगों के दुकानें घर में तोड़ फोड़ करने के साथ साथ वहाँ पर मौजूद पुलिस पर भी हमला कर दिया।मिली जानकारी के अनुसार बाजपट्टी,परिहार व बैरगनिया क्षेत्रों में काफ़ी हंगामा हुआ है।बाजपट्टी में तो गुटों में झड़प के कारण मार पीट और फिर आसामाजिक तत्वों ने लोगों की 
दुकाने और घर तक लूटने की कोशिश की।वहीं पुलिस पर हमले में दो अधिकारियों का सिर फट गया।परिहार प्रखंड में जुलुस पर पथराव को लेकर तनाव हो गया।यहीं नहीं बैरगनिया थानाक्षेत्र में इसके पहले शनिवार की रात विसर्जन रोकने के कारण पुलिस के साथ इसी इलाके में झड़प हो गयी थी।जिसमें बाद आसामाजिक तत्व तनाव को और बढ़ाने की कोशिश में लगे हुए है।इधर इस माहौल को इस प्रकार देख डीएम राजीव रोशन, एसपी हर प्रसाथ एस व एएसपी अभियान संदीप कुमार नीरज ने मौके पर पहुंच खुद 
डंडा संभालते हुए स्थिति संभाली।लाठी चार्ज की गयी 4 राउंड फ़ायरिंग भी हुई,शक के आधार पर दो दर्जन लोगों को गिरफ़्तार भी किया गया।हर इलाके में बड़े अधिकारी कैंप लगा रखे है वहीं भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गयी है।प्रशासन का कहना है कि यह सब कुछ आपसी सौहार्द को बिगाड़ने के लिए असामाजिक तत्वों का काम है, किसी को बख्शा नहीं जाएगा।
पुलिस पर जानलेवा हमला आस-पास लोग जुटे तब बची पुलिस की जान…
कुटुंबा प्रखंड में रविवार को जुलूस लेकर आए एक गुट द्वारा निर्माणाधीन मंदिर के दरवाजा को तोड़कर घुसने की प्रयास किया गया।पुलिस ने रोका तो उक्त गुट ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया।पुलिस जवानो पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया और फायरिंग भी की।जवाब में पुलिस ने भी एक राउंड गोली चलाई।हालांकि पुलिस फायरिंग की बात से अधिकारी इंकार कर रहे हैं।मामला कुटुंबा थाना के सांड़ी गांव का है।जख्मी पुलिस कर्मियों को आस-पास के निजी अस्पतालों में इलाज कराया गया।घटना की सूचना पाकर डीएम कंवल तनुज व एसपी डाॅ सत्य प्रकाश मौकेपर कैंप कर रहे हैं।घटना के पीछे एक जमीन पर कब्जा को लेकर विवाद बताया जा
रहा है।पिछले साल भी यहां विवाद हुआ था।उग्र भीड़ हिसंक हो गई थी।पुलिस पर जानलेवा हमला कर रहे थे।घटना के वक्त पुलिस बल की संख्या उग्र भीड़ के तुलना में काफी कम थी।लिहाजा एक ऐसा वक्त आया जब पुलिस व मौजुद अधिकारी जान बचाते दिखे।इस दौरान पुलिस जवानों ने शोर मचाया।जिसके बाद आस-पास के लोग मौके पर पहुंचे।तब जाकर उग्र भीड़ भागी।बताया जाता है कि सांड़ी गांव समीप 6 एकड़ जमीन पर उग्र गुट का कुछ सालों तक कब्जा था।जहां वे लोग खेलते थे।यह जमीन एक विधवा महिला की थी।जिसने कई बार कब्जा जमाना चाही।लेकिन उक्त गुट द्वारा कब्जा नहीं होने दिया गया।जिसके बाद उक्त महिला द्वारा विादित जमीन को सूर्य मंदिर निर्माण के लिए रजिस्ट्री कर दिया गया।जिसके बाद दूसरे गुट ने कब्जा करने के लिए कोशिश किया।लेकिन हल नहीं निकला।
ताजिया जुलूस पर कहर बनकर टूट पड़ा हाईटेंशन तार…
जिले में ताजिया जुलूस दौरान करंट की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई।पहली घटना गोराडीह के अगरपुर गांव में हुई जहां ताजिया जुलूस निकाल रहे लोगों पर बिजली विभाग की लापरवाही भारी पड़ी।जुलूस के दौरान दोपहर 1 बजे से शाम 7 बजेतक बिजली कटौती के आदेश के बावजूद शाम 4 बजे बिजली आ गई।जिससे जगह-जगह जोड़कर लगे गए हाईटेंशन लाइन के तार टूटकर गिर गए।इससे अगरपुर का मो० कामरान, मो० अंजार और 18 अन्य करंट की चपेट में आ गए।जब तक बिजली सप्लाई बंद
होती मो० कामरान की मौत हो चुकी थी जबकि अंजार ने गरहोतिया के एक निजी क्लीनिक में दम तोड़ दिया।घटना के बाद आक्रोशित आक्रोशित लोगों ने माछीपुर सड़क पर कमरान व गरहोतिया में अंजार के शव को रखकर सड़क जाम कर दिया।करीब एक घंटे बाद डीएम आदेश तितरमारे और एसएसपी मनोज कुमार मौके पर पहुंचे।उन्होंने लोगों को समझाया। ग्रामीणों ने सीओ सत्यनारायण पासवान की शिकायत की और कहा, सीओ के आदेश पर ही गांव में बिजली बहाल की गई। वे हादसे के जिम्मेदार हैं। 
करीब आधे घंटे की मान-मनौव्वल के बाद डीएम ने तत्काल मृतक के परिवारों को 4-4 लाख और अन्य पीड़ितों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की।इसके बाद लोगों का गुस्सा शांत हुआ और जाम खत्म हुआ।हालांकि इससे पहले सूर्यमहल पोखर स्थित पावर ग्रिड में तोड़फोड़ करने ग्रामीण पहुंचे थे,लेकिन कर्मचारियों के भागने और पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ।प्रशासन का दावा है कि बिजली कंपनी ने मृतक के परिवारों को राशि दे दी है।
वही जमुई में शनिवार को प्रतिमा विसर्जन शोभायात्रा  व सोमवार को मुहर्रम जुलूस पर पथराव के बाद दूसरे दिन भी शहर अशांत रहा।शहर की दुकानें बंद रही।भारी संख्या में पुलिस की मौजूदगी के बाद भी शहर दोबारा अशांत हो उठा।धार्मिक जुलूस पर पथराव के बाद शरारती तत्वों ने आधा दर्जन वाहनों को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया।महिसौड़ी चौक पर रोड़ेबाजी करते हुए फायरिंग की,जिसमें दो युवक जख्मी हो गए,जिन्हें पटना रेफर किया गया।इधर,उत्तेजित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।इस घटना के बाद देखते-देखते शहर में चारो ओर रोड़ेबाजी होने लगी।महाराजगंज, महिसौड़ी, नीमारंग, पुरानी बाजार इलाके में शरारती तत्वों ने जमकर रोड़ेबाजी की,जिसमें आधा दर्जन लोग जख्मी हो गए।उपद्रवियों ने दो मोटरसाइकिलें जला दीं।डॉ.हीरा के घर के आगे खड़े वाहनों के शीशे तोड़ दिए।शहर के प्रसिद्ध चिकित्सक अरुण कुमार सिंह के निजी क्लिनिक में भी तोड़फोड़ की।चप्पे-चप्पे पर पुलिस की मौजूदगी के बावजूद लखीसराय मोड़ से लेकर महिसौड़ी चौक के बीच दर्जन भर दुकानों को आग के हवाले कर दिया।आग पर काबू पाने के लिए फायरबिग्रेड के साथ पुलिस कर्मियों को मशक्कत करनी पड़ी।उपद्रवियों ने अग्निशमन वाहन को भी नुकसान पहुंचाया।जब तक अन्य जगहों से अग्निशमन वाहन बुलाया जाता,सभी दुकानें जलकर राख हो गईं।दोपहर तक शहर के हर मुहल्ले से अशांति फैलाने की सूचना आने लगी।
रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर/धर्मेन्द्र
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *