www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

फंरिगगोला पेट्रोल पंप के समीप पिस्टल के साथ तीन तस्कर को एसएसबी ने धर दबोचा…

किशनगंज एसएसबी ने सोमवार की सुबह एनएच-31 स्थित फंरिगघोड़ा पेट्रोल पंप के समीप पिस्टल के साथ तीन तस्कर को धर दबोचा।गुप्त सूचना के आधार पर एसएसबी व पुलिस की टीम ने दो लोडेड पिस्टल के साथ तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया।जिसमें एक पिस्टल जर्मनी निर्मित है।एसएसबी के डिप्टी कमांडेंट कुमार सुंदरम ने बताया कि अपराधी हथियारों को बेचते हैं।इन लोगों ने पूछ-ताछ में स्वीकार किया है कि कल ही उन्होंने हथियार किसी शख्स से खरीदा जिसे रविवार को किशनगंज के किसी अपराधी को बेचा जाना था।दो बाइक भी जप्त किया गया।गौर करे तो इलाके में सक्रिय माफियाओं की नजर स्थानीय भोलेभाले व बेरोजगार युवकों पर पड़ गई है।युवकों को अपने जाल में फंसाकर माफिया अपने धंधे को परवान चढ़ाने में जुट गए हैं।सोमवार को जर्मनमेड पिस्टल के साथ एसएसबी के हत्थे चढ़े युवक कहने को तो पेशे से राज मिस्त्री थे परंतु पेशे की आड़ में उनका आर्म्स सप्लाई का धंधा फलफूल रहा था।जल्द अमीर बनने की लालसा उन्हें इस दलदल तक खींच लाई।हालांकि पुलिस के पास इनका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है।पूछताछ के क्रम में गिरफ्तार कुर्बान अली ने बताया कि तेघरिया रेल गुमटी के समीप पान की दुकान चलाने वाला युवक गिरोह का मास्टर माइंड है।सभी आरोपी इसी युवक की दुकान पर पान खाया करते थे।धीरे धीरे इनकी पहचान दोस्ती में बदल गई।एक दिन जब कुर्बान ने पान दुकानदार के समक्ष अपनी गरीबी का रोना रोया तो उसने धीरे धीरे कुर्बान और उसके साथियों पर डोरा डालना शुरू कर दिया।उसे भी ऐसे शख्स की तलाश थी जिसपर पुलिस व अन्य खुफिया तंत्र को शक ना हो सके।रोजगार के सिलसिले में कुर्बान और उसके साथियों की बाइक से शहर आना जाना करने के कारण उसकी राह और आसान हो गई।वहीं जल्द अमीर बनने की ललक के कारण भी वे जल्द दुकानदार के बहकावे में आ गए।कुछ दिनों तक छोटी-मोटी डील में आजमाने के बाद सोमवार को होनेवाली डील के लिए जब दुकानदार ने आरोपियों से संपर्क किया तो वे फौरन राजी हो गए।पांजीपाड़ा के हथियार तस्कर अनीसुर्रहमान से हथियार खरीदकर खेप के शहर पहुंच जाने के बाद सभी इसे ठिकाने लगाने की जुगत में लग गए थे।स्थानीय एक युवक से 65 हजार में डील फाइनल होने के बाद जब सोमवार को हथियार की डिलीवरी देने फरिंगगोड़ा पहुंचे तो पूर्व से घात लगाए एसएसबी जवानों ने उन्हें दबोच लिया।हालांकि एसएसबी व पुलिस अधिकारी गिरफ्तार आरोपियों से लगातार पूछताछ कर मामले की अनसुलझी कड़ियों को सुलझाने में जुट गए हैं।एसएसबी 12 वीं बटालियन के सहायक कमांडेंट कुमार सुन्दरम ने बताया कि पूछताछ के क्रम में मिली जानकारी के आधार पर जल्द गिरोह का उद्भेदन कर दिया जाएगा।बदमाशों में कुर्बान अली, अंसार उल हक व मोहम्मद मुख शामिल थे।सभी किशनगंज के गाछपाड़ा और सिंधिया के रहनेवाले हैं।

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *