www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

नीतीश को नरेंद्र मोदी ने अपने सूंड़ में लपेट लिया है:-लालू प्रसाद यादव

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला।उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने पॉलिटिकल सुसाइड कर लिया है।आज नीतीश कुमार फासिस्ट ताकतों के हाथों में खेल रहे हैं।नरेंद्र मोदी ने अपनी सूंड़ मे उन्हें लपेट लिया है और अब अपने हिसाब से नीतीश को नचाएंगे।मोदी नीतीश को अब यहां वहां घुमाएंगे और लोकसभा चुनाव में दो सीट दे देंगे।नीतीश ने पॉलिटिकल सुसाइड कर लिया है।अब उनके पास कोई चारा नहीं है।लालू यादव ने ये बातें आज प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहीं।उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने जनादेश का अपमान किया है और गठबंधन तोड़ने के लिए नीतीश कुमार बीजेपी से ज्यादा दोषी हैं।बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी तो यही कहा था कि बिहार में हमने गठबंधन में कोई तोड़-फोड़ नहीं की,बल्कि नीतीश ने खुद ही गठबंधन छोड़ा है।राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने कहा कि रणछोड़ और पलटूराम की सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है। हमलोग इन्हें अब सत्ता से बाहर निकालकर ही दम लेंगे।उन्होंने कहा कि पूरे देश में अफरातफरी का माहौल है और बीजेपी शासित राज्यों में घटनाएं ज्यादा हो रही है।बिहार में भी बीजेपी ने ऐसी कोशिश की थी लेकिन हमने उन्हें सफल नहीं होने दिया।आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने चार अगस्त को गुजरात में राहुल गांधी की कार पर हुए हमले को बीजेपी और आरएसएस की साजिश बताया।लालू ने कहा कि राहुल गांधी को ये लोग टारगेट किए हुए हैं।उनकी हत्या करने की कोशिश की गई।वे राहुल गांधी को मिटाना चाहते हैं।बीजेपी विपक्ष को टारगेट कर रही है।इसी चलते मेरे परिवार को फंसाया गया।उत्तरप्रदेश में मायावती के साथ भी वही हो रहा है।उन्होंने कहा कि आईएएस ऑफिसर की बेटी को हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष का बेटा खींचने की कोशिश कर रहा था।चारों तरफ जंगल राज हो गया है।

लालू और नीतीश के बीच आया बालू, रिश्ता टूटने की ये भी थी वजह:-सूत्र 

बिहार के वित्तमंत्री सुशील मोदी ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में खुलासा करते हुए राजद अध्यक्ष लालू यादव और उनकी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर राज्य के बालू माफिया से घनिष्ठ संबंध होने का आरोप लगाया है।सुशील मोदी ने कहा कि बालू माफिया सुभाष यादव लालू यादव का दाहिना हाथ है उन्होंने अपने इस आरोप के समर्थन में एक अपार्टमेंट के तीन फ्लैटों के कागजात मीडिया वालों को दिए जिससे उनके आरोपों की पुष्टि होती है।इस अपार्टमेंट का नाम लालू यादव की मां के नाम मरछिया देवी के नाम पर है और इसका निर्माण भी लालू के ही डायरेक्शन में हुआ है जून महीने में राबड़ी देवी ने 1 करोड़ 72 लाख के भुगतान के बाद तीन फ्लैट उन तीन कंपनियों के नाम किए, जिसके निदेशक सुभाष यादव हैं।उन्हें राज्य के पटना, भोजपुर, छपरा और अरवल जिले में जिन तीन अलग-अलग कंपनियों को बालू की ठेकेदारी का काम मिला, उन तीनों कंपनियों में सुभाष यादव निदेशक हैं।सुभाष यादव ने फ्लैट की रजिस्ट्री उस समय कराई जब यह साफ हो गया था कि उन्हें इसके लिए सीबीआई और आयकर विभाग के पास देर-सबेर सफाई देनी होगी।एक टीवी रिपोर्ट के मुताबिक यह सब जानते हैं कि 2014 से जब नीतीश और लालू करीब आए बालू का कारोबार का खेल जोर पकड़ता गया और जब 2014 नवंबर में सरकार बन गई और लालू यादव के पास विभागों के बंटवारे में खान विभाग आ गया तब यह खेल चरम पर जा पहुंचा।लेकिन यह बात नीतीश कुमार से छिपी नहीं रही और लालू यादव के साथ राजनीतिक संबंध खत्म करने के पीछे कई करणों में यह एक मुख्य कारण बना, हालांकि कुछ महीने पूर्व पटना हाई कोर्ट के निर्देश पर इस धंधे की जांच में तब पटना के डीआईजी शालीन ने तीन दिन की जांच पर एक रिपोर्ट लिखी।डीआईजी शालिन के इस रिपोर्ट में पाया गया था कि बिना किसी अनुमति के माइनिंग हो रही है, लेकिन इस धंधे में न केवल सुभाष यादव बल्कि राजद के विधान पार्षद राधा चरण सेठ और विधायक अरुण यादव का नाम भी शामिल है।रिपोर्ट में यह भी माना गया कि अधिकारियों की मिलीभगत के बिना ये धंधा संभव नहीं,हालांकि कई पुलिस अधिकारियों ने दबी ज़ुबान में स्वीकार किया कि अवैध बालू की ढुलाई को पकड़ने पर पटना से लेकर दिल्ली तक केंद्रीय जांच एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारियों के फ़ोन उनके पास आते थे और नीतीश ने भाजपा के साथ एक बार फिर सत्ता में आने के बाद जब धंधेबाजों पर नकेल कसनी शुरू कि तो सबसे ज्यादा विरोध राजद के लोगों की तरफ से हो रहा है।

जज के खिलाफ हाई कोर्ट गए लालू प्रसाद यादव…

राजद अध्यक्ष लालू यादव की ओर से पटना हाईकोर्ट में चारा घोटाला मामले की सुनवाई सीबीआइ के विशेष जज शिवपाल सिंह की अदालत से किसी दूसरे कोर्ट में स्थानांतरित कराने की याचिका दायर की गई है।लालू ने आरोप लगाया है इस अदालत में गवाहों और आरोपियों के साथ सही व्यवहार नहीं किया जाता है।सोमवार को लालू की ओर से इसके लिए याचिका दायर की गई है और बुधवार को इस याचिका पर सुनवाई करने का आग्रह हाईकोर्ट से किया जाएगा।लालू ने हाईकोर्ट में अपनी याचिका में कहा है कि सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह की अदालत में चारा घोटाले के दो मामलों (आरसी 64 ए/96 और आरसी 38 ए/96) की सुनवाई हो रही है।लालू ने कहा है कि इस अदालत में जज गवाहों और आरोपियों के साथ सही व्यवहार नहीं कर रहे हैं।तीन अगस्त को पटना के डीजी रैंक के अधिकारी सुनील कुमार गवाही देने पहुंचे थे।कोर्ट ने उनका नाम-पता पूछा। इसके बाद उन्होंने गवाह से जाति पूछी।जाति पूछने के बाद जज ने कहा कि उन्हें 10 अगस्त को समन किया गया था,वह आज कैसे आ गए ? इसके बाद उन्होंने जिस कागज पर नाम-पता नोट किया था उसे फाड़ दिया।वहीं,याचिका में कहा गया है कि लालू प्रसाद की ओपेन हार्ट सर्जरी हुई है।वह नियमित अंतराल पर दवा लेते हैं।इसके लिए उनके साथ एक अटेंडेंट हमेशा रहता है।शनिवार को लालू के अटेंडेंट को भी कोर्ट से बाहर कर दिया गया था।इन सबके बाद लालू ने हाइकोर्ट से मामला किसी अन्य कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग की है।

रिपोर्ट-न्यूज़ रिपोटर 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *