www.kewalsach.com | www.kewalsachtimes.com | www.ks3.org.in | www.shruticommunicationtrust.org
BREAKING NEWS

आखिर हो ही गये देवी बनी खुशबू की हत्या ,गैर तो गैर अपनो ने ही ही मौत के घाट उतारा खुशबू को…

बिहार मे जमुई जिले के सोनो थाना इलाके मे सोनो गाँव मे खुशबू का शव काफी मेहनत कर पुलिस ने सोमवार 16 अप्रैल  की सुबह बरामद किया है।तब सोनो के ग्रामीणों कॊ झटका लगा,और सबका रुख शव देखने की और होने लगे,खुशबू काफी दर्दनाक मौत पायी है,कानून उसके हत्यारे को बख्सने नही जा रहा है।जी हा ये दर्दनाक रहस्य तब खुल कर सामने आया जब बिहार के उच्च अधिकारीयों ने कई दिनो से गायब खुशबू का धटना कॊ खुद जाँच आरम्भ किया,तब चौंकने वाले तथ्य उभर कर सामने आये और अहले सुबह सोनो थाना पुलिस ने खुशबू के घर जहा वो रहती थी उसके ममेरे भाई गोपाल तमौली के यहा तलाशी लिया जहा शौचालय के टंकी के पास बालू से दबाया गया नमक के नीचे गड़ा गया खुशबू का शव बरामद हुए।ये दर्दनाक मंजर देख ग्रामीणों का आक्रोश फूटने लगा मगर पुलिस ने तुरंत स्तिथि नियंत्रण मे कर लिया खुशबू की हत्या का गम सब मे थे,सब दुखी थे,मगर कोइ कूछ बोलने से परहेज़ कर रहे थे।ग्रामीणों ने खुशबू

  • कोइ नही मिला जो जीवन दान दे सके देवी खुशबू को।खुशबू की कहनी अमर हो गये,सदियों तक खुशबू अमर हो गयी। भारत माता का स्वरूप धारण करने वाली खुशबू अब दुनिया से विदा ले ली।जहा पल रही थी जहा से जीवन मिलने की उमीदें थे वही मौत मिल गई।अपना ही ममेरा भाई जल्लाद साबित हुआ।कहने वालो ने सच कहा है,जाने वाले कभी नही आते,जाने वालो की याद आती है,मौत मिटा दे चाहे हस्ती याद तो अमर है।वो नन्ही सी खिल्खिलाती परी सी देवी बनी खुशबू कितने को दर्दनाक गम दे गई,अब तो ओ नही होगी,मगर उसकी आभास याद बनकर हर दिलो मे होगा।वो पुलिस अधिकारी भी ग़मगीन हो गये जब खुशबू का शव बालू से दवा पाया।ग्रामीणों मे दुखों का पहाड़ टूट पड़े जब खुशबू की शव उसके घर से ही प्रशासन ने पाया,वो गैर थे जिनके आँखो से खुशबू के लिये आँसु छलका,मगर वो तो अपने थे जिनके द्वारा खुशबू पर मौत बरसा।ऐसे तो बिहार मे अनेकों घटना होते है मगर ये उस कन्या की आह बिहार के मिट्टी मे दब गयी,और उसकी हत्या हो गये,जो देवी का स्वरूप धारण कर अपनी मौत की भविष्यवाणी की और उसे कोइ जीवन दान ना दे सका।

जल्लाद ममेरा भाई गोपाल तमौली

के देवी वाली तस्वीर को सदा सुरक्षित रखने का विचार किया है,खुशबू जब स्कूल मे भारत माता बनी थी तो उसे ये नही मालुम थे की उसके इस स्वरूप का तस्वीर अमर हो जायेगा और वो अपने ममेरा भाई द्वारा मौत के घाट उतार दी जायेगी।खुशबू काफी सुशील और चंचल थी उसके गाँव मे काफी मित्र थे।जो उसके गायब होने के पश्चात हत्या की आशंका से आंदोलन किया।तब पुलिस के ध्यान मे यह मामला गया,पुलिस के उच्च अधिकारी के कान खड़े हुये और खुशबू के ममेरे भाई गोपाल तमौली कॊ हिरासत मे लिया, गोपाल तमौली पुलिस को काफी गुमराह किया वह बार-बार खुशबू कॊ भागने की बात कहता रहा, मगर पुलिस के 

उच्च अधिकारीयों ने अपने गम्भीर अनुसंधान मे खुशबू का शव बरामद कर लिया तब गोपाल ने अपना जुर्म कबूला है। खुशबू की हत्या गोपाल ने अपने सहयोगी से मिलकर उसके गायब होने के पूर्व रात्रि मे कर दिया था मगर कानून के भय से उसने शव को घर मे ही छुपा दिया, यह इतना दुखदायी घटना है की खुशबू बोर्ड परीक्षा देने के पश्चात अपने सहेली कॊ बोली थी की रिज़ल्ट तक शायद जिंदा नही रहुगी, उसके आशंका सत्य साबित हुये और खुशबू की वास्तव मे उसके अपने

मेमेरे भाई ने ही जिसने जीवन मे लालन पालन के लिये गोद लिया था उसने ही सारे मर्यादा को तोड़ कर उसकी हत्या कर दिया।खुशबू का घर मारची गाँव हाथीदह के पाश है,जहा से उसके माता पिता की मौत के पश्चात उसे उसके ममेरे भाई ने गोद लिया था खुशबू के नाम पर मोटी रकम थे,उसे किसी युवक से कई वर्ष पूर्व प्रेम भी हुये थे,खुशबू काफी मिलनसार और चंचल थी जिसे सोनो गाँव के हर कोइ लायक करता था।सोनो गाँव के समाजिक कार्यकता श्री अभिषेक पांडे,मोनू,विकास राय,भोलू सिंह,पंकज सिंह,समेत

कई ग्रामीणो कॊ खुशबू की गायब होने से लेकर उसके शव बरामदगी तक काफी सक्रियता से कानूनी करवाई करवाने मे आगे पाया गया।गाँव के कई ग्रामीणों ने खुशबू के हत्या से काफी आहत होकर शोक और मौन धारण करने का निर्णय लिया है वही उसके आत्मा की शांति और मुक्ति के लिये महादेव से विनती किया है।ग्रामीणों ने इस त्वरित करवाई और कामयाबी के लिये बिहार के डीजीपी को और डीआईजी श्री विकास वैभव कॊ और जमुई एसपी के कार्य की सराहना किया है।सदा याद की जायेगी जमुई की सोनो की देवी बनी खुशबू,काफी चर्चित होता जा रहा था खुशबू की रहस्मय ढंग से गायब होने की घटना,और इसमे ग्रामीण और खुशबू के मित्र आंदोलन की तैयारी मे थे।मगर उच्च अधिकारीयों की करवाई रंग लाया और पुलिस कॊ सफलता मिल गई।खुशबू कि गायब होने का रहस्य खुल गये और उसकी हत्या होना पाया गया।

रिपोर्ट-धर्मेन्द्र सिंह 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *